कंटेनमेंट जोन से मुक्त हुआ मुंबई, मुंबई सहित महाराष्ट्र में रिकॉर्ड वैक्सीनेशन

कंटेनमेंट जोन से मुक्त हुआ मुंबई, मुंबई सहित महाराष्ट्र में रिकॉर्ड वैक्सीनेशन

मुंबई : कोरोना की पहली लहर में हॉटस्पॉट बनी मुंबई के लिए एक बहुत बड़ी खबर है. मुंबई में कोरोना बहुत हद तक कंट्रोल हो गया है. अब शहर में एक भी कंटेनमेंट जोन बाकी नहीं रह गया है. इसके अलावा मुंबई सहित महाराष्ट्र में रिकॉर्ड वैक्सीनेशन की खबर मुंबई और महाराष्ट्र के लिए अत्यधिक सकारात्मक संकेत देने वाली खबर है.

कोरोना की पहली और दूसरी लहर का कहर मुंबई पर जम कर टूटा था. दूसरी लहर में अकेले मुंबई के कोरोना संक्रमितों की संख्या प्रतिदिन 10 हजार तक पहुंच रही थी. लॉकडाउन से जुड़े कठोर प्रतिबंधों और मुंबई महापालिका की सही प्लानिंग की वजह से मुंबई में कोरोना नियंत्रण में आ पाया है.

राज्य के पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे ने ट्विट कर यह गुड न्यूज दिया है. शनिवार को रात 9 बजे तक महाराष्ट्र में 9 लाख 52 हजार लोगों का वैक्सीनेशन हुआ. यह अब तक का एक दिन में किसी राज्य में वैक्सीनेशन होने का सबसे बड़ा रिकॉर्ड है. महाराष्ट्र ही नहीं वैक्सीनेशन के मामले में मुंबई ने भी रिकॉर्ड बनाया. इन 9 लाख 52 हजार लोगों में मुंबई के 1 लाख 51 हजार लोग शामिल हैं. इसके अलावा सबसे बड़ी खबर यह है कि मुंबई में अब एक भी कंटेनमेंट जोन नहीं है. फिर भी आदित्य ठाकरे ने सलाह दी है कि मास्क का इस्तेमाल करते रहें, वैक्सीन लें और सुरक्षित रहें.

मुंबई महानगरपालिका द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक मुंबई में कोरोना संक्रमण के दुगुने होने की कालावधि भी 1 हजार 860 दिनों तक पहुंच गई है. यानी कोरोना संक्रमण दुगुने होने की दर पांच साल तक चली गई है. इसी से अंदाजा लगाया जा सकता है कि मुंबई में कोरोना पर किस हद तक कंट्रोल हासिल कर लिया गया है. कोरोना संक्रमण की दर 7 अगस्त से 13 अगस्त के बीच दर्ज किए गए रिकॉर्ड के मुताबिक 0.04 प्रतिशत है. इसी तरह कोरोना संक्रमण से रिकवरी रेट 97 प्रतिशत है. मुंबई में सक्रिय कोरोना मरीजों, यानी जिनका इलाज शुरू है, की संख्या 2 हजार 879 है.


लोगसत्ता न्यूज
Anilkumar Upadhyay