अंगार-भंगार क्या है, यही संस्कार दिया है क्या? : भाजपा नेता एवं पूर्व मंत्री पंकजा मुंडे

अंगार-भंगार क्या है, यही संस्कार दिया है क्या? : भाजपा नेता एवं पूर्व मंत्री पंकजा मुंडे

मुंबई : भाजपा नेता एवं पूर्व मंत्री पंकजा मुंडे ने सोमवार को अपने समर्थकों पर आपा खो दिया। खुद के समर्थन में की जा रही नारेबाजी से झल्लाई पंकजा ने एक कार्यकर्ता पर थप्पड़ भी जड़ दिया। उन्होंने खूब खरी-खोटी भी सुनाई। इसको लेकर राजनीतिक गलियारे में चर्चाओं का बाजार गरम हो गया है। बताया जा रहा है कि पार्टी में अलग-थलग पड़ रही पंकजा मुंडे ने अब डैमेज कंट्रोल की कोशिश शुरु की है।

बीड की सांसद एवं पार्टी के दिग्गज नेता रहे गोपीनाथ मुंडे की बेटी प्रीतम मुंडे की बजाय राज्यसभा सदस्य भागवत कराड को केंद्रीय मंत्रिमंडल  में शामिल किये जाने से पंकजा और प्रीतम मुंडे के समर्थ नाराज हैं। मंत्रिमंडल विस्तार के बाद पंकज समर्थकों ने अपने अपने पदों से इस्तीफा भी दे दिया था। हालांकि बाद में सभी ने अपना इस्तीफा वापस ले लिया था। पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व के निर्देश पर केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री डॉ. भागवत कराड ने लोगों से रूबरू होने के लिए सोमवार से जन आशीर्वाद यात्रा शुरू की है। डॉ. कराड की जन आशीर्वाद यात्रा गोपीनाथ गढ़ से शुरू हुई। भागवत कराड गोपीनाथ मुंडे की समाधि पर भी गए। इस मौके पर पंकजा मुंडे, सांसद प्रीतम मुंडे समेत अन्य पदाधिकारी मौजूद थे।

असहज स्थिति उस समय उत्पन्न हो गयी जब वित्त राज्यमंत्री डॉ. भागवत कराड पार्टी की नेता पंकजा मुंडे से मिलने उनके घर पहुंचे और बाहर पंकजा समर्थकों ने नारे बाजी शुरु कर दी। कार्यकर्ता पंकजा मुंडे एवं प्रीतम मुंडे के समर्थन नारे लगा रहे थे। कार्यकर्ता कह रहे थे पंकजा अंगार हैं, बाकी सब भंगार है। जिस पर वह बुरी तरह बिफर पड़ीं। उन्होंने नारेबाजी कर रहे एक कार्यकर्ता को थप्पड़ जड़ दिया। पंकजा बोलीं कि मुंडे ने इस तरह का व्यवहार करना सिखाया है। हम मुंडे साहब अमर रहे की घोषणा को नहीं रोक सकते। लेकिन कोयला-स्क्रैप घोषणा के बारे में क्या? क्या दूसरी पार्टी चल रही है? यह मुझे पसंद नहीं है। 



लोगसत्ता न्यूज
Anilkumar Upadhyay