जोगेश्वरी : मौज के लिए मांगी मासूम से आपत्तिजनक तस्वीरें, पुलिस ने पहुंचाया सलाखों के पीछे

जोगेश्वरी : मौज के लिए मांगी मासूम से आपत्तिजनक तस्वीरें, पुलिस ने पहुंचाया सलाखों के पीछे

जोगेश्वरी : सोशल मीडिया में खूबसूरत महिलाओं-लड़कियों की प्रोफाइल फोटो देखकर बहुत से लोग उनका अकाउंट खंगालते हैं। कुछ मनचले लोग प्रâेंड रिक्वेस्ट भी भेजते हैं। मां के मोबाइल पर आई ऐसी ही एक रिक्वेस्ट स्वीकार करना एक दस साल की लड़की के लिए मुसीबतों का सबब बन गया। स्नैपचैट पर आई उक्त रिक्वेस्ट स्वीकार करने के बाद लड़की से कुछ लोग उसकी नग्न तस्वीरों की मांग करने लगे। लड़की ने उनकी मांग को नजरअंदाज किया तो उसके मां-बाप को जान से मारने की धमकी देने लगे। मुंबई पुलिस क्राइम ब्रांच की यूनिट-१० ने इस मामले में दो आरोपियों को भिवंडी से गिरफ्तार किया है।

बता दें कि जोगेश्वरी की रहनेवाली महिला ने अपना मोबाइल फोन अपनी १० साल की बेटी को ऑनलाइन पढ़ाई के लिए दिया था। इस दौरान लड़की मोबाइल में पहले से मौजूद स्नैपचेट अकाउंट पर लॉग इन करने लगी। उसने एक अनजान युवक की प्रâेंड रिक्वेस्ट भी स्वीकार कर ली। कुछ दिन सामान्य चैटिंग के दौरान युवक ने लड़की से उसका मोबाइल नंबर हासिल कर लिया। बाद में वह उसे व्हॉट्सऐप पर आपत्तिजनक तस्वीरें भेजने लगा और लड़की से उसकी नग्न तस्वीरों की मांग करने लगा।

कुछ दिन तक तो उक्त युवक लड़की को खुद ही परेशान करता रहा बाद में उसने पीड़िता का नंबर अपने एक दोस्त को भी दे दिया। पीड़िता कुछ दिनों तक उनकी हरकतों को नजरअंदाज करती रही लेकिन उनकी मांग न मानने पर वे बाद में पीड़िता के माता-पिता का कत्ल करने की धमकी देने लगे। इससे पीड़िता डर गई। उसने अपने परिजनों को इस बारे में बता दिया और पीड़िता के पिता ने मेघवाड़ी पुलिस थाने में इसकी शिकायत दर्ज करा दी।

मेघवाड़ी पुलिस के साथ-साथ डीसीपी दत्ता नलावड़े व वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक महेश कुमार ठाकुर के मार्गदर्शन में क्राइम ब्रांच यूनिट-१० के एपीआई वाहिद पठान की टीम ने मामले की जांच शुरू की। जांच में पता चला कि आरोपी व्हॉट्सऐप पर आपत्तिजनक तस्वीरें भेजने के कुछ ही मिनट बाद उन्हें खुद ही डिलीट भी कर देते थे, ताकि उनके खिलाफ कोई सबूत न मिल सके। लेकिन आरोपी ने अपनी एक तस्वीर भी भेजी थी। इसलिए पीड़िता को उसका हुलिया याद रहा। यूनिट-१० की टीम ने लड़की के मोबाइल की फोरेंसिक जांच करके डिलीट की गई तस्वीरों को ढूंढ़ निकाला। उन्हीं में से पीड़ित लड़की ने आरोपी को पहचान लिया। टीम ने उक्त तस्वीर भेजनेवाले नंबरों की जांच की और दोनों आरोपियों को भिवंडी से दबोच लिया। आरोपी पशुओं को चारा बेचने का कारोबार करते हैं।


लोगसत्ता न्यूज
Anilkumar Upadhyay