स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने लोगों से की विनती, कहा- ‘सरकार जो नियम लागू कर रही है उसका करें पूरा पालन’

स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने लोगों से की विनती, कहा- ‘सरकार जो नियम लागू कर रही है उसका करें पूरा पालन’

महाराष्ट्र: महाराष्ट्र में इस समय कोरोना के नए मामलों में बहुत कमी आई है, लेकिन सरकार संक्रमण को देखते हुए पूरे एहतियात बरत रही है. राज्य के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने सोमवार को लोगों से विनती करते हुए कहा कि मौजूदा स्तिथि को देखते हुए सरकार जो नियम लागू कर रही है. लोगो से विनती है वो उसे माने. वहीं सरकार की तरफ से जारी दिशा-निर्देश के अनुसार कोंकण में जाने वालों को 2 डोज लेना जरूरी है. इस पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए उन्होंने कहा कि टास्क फोर्स के सुझाव और डिजास्टर मैनेजमेंट एक्ट के तहत सीएम को जानकारी देते नए सभी निर्णय लिए जा रहे हैं.

मंत्री ने कहा कि महाराष्ट्र में कोरोना के मरीज नहीं बढ़ रहे हैं. लेकिन त्योहारों को देखते हुए भी सरकार ने गाइडलाइन निकाली है. वहीं केरल में कोरोना के मरीजों की संख्या में इजाफा हुआ होने पर स्वास्थय मंत्री ने कहा कि केरल जैसी स्थिति ना हो इसलिए हम पूरी कोशिश करेंगे कि अपने राज्य में कोरोना के मरीजो कि संख्या नही बढ़े. महाराष्ट्र में राज्य सरकार की योजना 5 सितंबर यानि टीचर डे तक सभी टीचिंग और नान टीचिंग कर्मचारियों का कोविड-19 के खिलाफ पूरी तरह से टीकाकरण किए जाने की है. स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे का कहना है कि यह स्कूलों को फिर से खोलने की दिशा में पहला कदम है. स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री का कहना है कि इसके लिए एक विशेष अभियान चलाया जा रहा है. राजेश टोपे ने कहा जिन जिलों में कोई पॉजिटिव मामला नहीं है. वहां स्‍कूलों को खोला जा सकता है.

स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि हम राज्‍य में कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर की आशंका को देखते हुए आक्सीजन का उत्पादन और अस्पताल में बेड की संख्या भी बढ़ा रहे हैं. टोपे ने बताया की मरीजों के लिए 1000 नई एम्बुलेंस खरीदी गई हैं इसके साथ ही आशा कार्यकर्ताओं के वेतन में 1500 रुपये की वृद्धि को भी मंजूरी दे दी गई है. इसके चलते 71 हजार आशा कार्यकर्ता लाभान्वित होंगी. इसके लिए लगभग 275 करोड़ रुपये बजट में शामिल किए जाएंगे.



लोगसत्ता न्यूज
Anilkumar Upadhyay