१८ लाख की एमडी हुई बरामद, पैडलर ने पहुंचाया सप्लायर को जेल

१८ लाख की एमडी हुई बरामद, पैडलर ने पहुंचाया सप्लायर को जेल

मुंबई, मोटी कमाई की लालच में बड़ी संख्या में लोग ड्रग्स की तस्करी-बिक्री के गैरकानूनी धंधे में जुड़ रहे हैं। कुछ तो ऐसे भी हैं, जिन्हें पुलिस पकड़ती तो है लेकिन जमानत पर छूटकर वे फिर से नशीले जहर का कारोबार करने लगते हैं। दो ऐसे ही आरोपियों को मुंबई पुलिस के एंटीनार्कोटिक्स सेल (एएनसी) की आजाद मैदान यूनिट ने गिरफ्तार किया है। आरोपियों में एक ड्रग्स पैडलर (विक्रेता) है, जिसकी गिरफ्तारी के बाद एएनसी की टीम दूसरे (ड्रग्स आपूर्तिकर्ता) तक पहुंची।
बता दें कि एएनसी आजाद मैदान यूनिट के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक राजेंद्र दहिफले ६ सितंबर की शाम साढ़े ७ बजे के दौरान अपनी टीम के साथ दक्षिण मुंबई के नागपाड़ा इलाके में गश्त कर रहे थे। उसी दौरान टैंक स्ट्रीट स्थित वसील खान मार्ग, पापड़ गली में एक ४८ वर्षीय पेशेवर अपराधी अशफाक अंसारी (बदला हुआ नाम) एएनसी के अधिकारियों को नजर आया। एएनसी अधिकारियों को देखकर अशफाक भागने की कोशिश करने लगा। लेकिन एएनसी की टीम ने उसे घेरकर दबोच लिया। तलाशी में उसके पास से ६ लाख रुपए मूल्य की ६० ग्राम एमडी ड्रग्स बरामद हुई। उसकी निशानदेही पर एएनसी की टीम ने डोंगरी के चिंचबंदर इलाके से ४६ वर्षीय अब्दुल्ला उर्फ चीकू (बदला हुआ नाम) को भी दबोच लिया। अशफाक अब्दुल से ड्रग्स खरीद कर नागपाड़ा इलाके में बेचता था। अब्दुल्ला के पास से साढे १२ लाख रुपए की १२५ ग्राम एमडी ड्रग्स बरामद हुई।
एएनसी आजाद मैदान के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक राजेंद्र दहिफले ने बताया कि अशफाक को पुलिस पहले भी कई बार गिरफ्तार कर चुकी है। उसके खिलाफ ४ मामले पहले से ही दर्ज हैं। इसी तरह अब्दुल्ला के खिलाफ तीन मामले पहले से ही दर्ज हैं लेकिन आरोपी जमानत पर छूटने के बाद पैसों के लालच में फिर से ड्रग्स तस्करी व बिक्री का धंधा करने लगते हैं।


लोगसत्ता न्यूज
Anilkumar Upadhyay