सीएसएमटी से भायखला तक नहीं जमा होगा पानी, ट्रैक के नीचे ड्रेनेज सिस्टम

सीएसएमटी से भायखला तक नहीं जमा होगा पानी, ट्रैक के नीचे ड्रेनेज सिस्टम

मुंबई, मानसून में लगातार ट्रैक पर पानी भरने के कारण ट्रेनों की आवाजाही पर असर पड़ता है। इससे निजात पाने के लिए रेलवे, मनपा के साथ मिलकर कुछ परियोजनाओं को पूरा कर रही हैं। हाल ही में सैंडहर्स्ट रोड स्टेशन के पास पटरियों के नीचे माइक्रो टनलिंग का काम पूरा हुआ था। अब इस परियोजना के अगले चरण में मस्जिद स्टेशन के पास भी माइक्रो टनलिंग का काम रेलवे ने अपने क्षेत्र में पूरा कर लिया है। इस काम के बाद सीएसएमटी से भायखला तक ट्रैक पर जमा होनेवाला पानी टनल की मदद से बायपास हो जाएगा।
इस परियोजना के दूसरे चरण के अंतर्गत जो काम हो रहा है, उसमें मध्य रेलवे के सामने एक चट्टान जैसी मुसीबत खड़ी हो गई थी। दरअसल मस्जिद बंदर स्टेशन के पास पटरियों के नीचे आम टनल बोरिंग मशीन से जो काम हो रहा था, वहां चट्टान मिली थी। इसे तोड़ना आम बोरिंग मशीन के बस की बात नहीं थी। बहरहाल अमदाबाद से इसके लिए नई बोरिंग मशीन मंगाई गई। अधिकारियों के अनुसार नई मशीन की मदद से ये काम पूरा हो गया। यहां पश्चिम की ओर को जोड़नेवाली ४२५ मीटर लंबाई के लिए रेल पटरियों के पार से पूर्व की ओर १,८०० मिमी व्यास का आरसीसी पाइप बिछाया गया।





लोगसत्ता न्यूज
Anilkumar Upadhyay