मुंबई की निर्भया मामले में SC-ST एक्ट की कार्रवाई, वारदात में इस्तेमाल की गई रॉड भी बरामद

मुंबई की निर्भया मामले में SC-ST एक्ट की कार्रवाई, वारदात में इस्तेमाल की गई रॉड भी बरामद

मुंबई : मुंबई की निर्भया के मामले में पुलिस ने आरोपी के खिलाफ पहले से दर्ज मामले में एससी एसटी अधिनियम भी जोड़ दिया  है. मुंबई के पुलिस कमिश्नर हेमंत नागराले ने यह जानकारी देते हुए बताया कि साकी नाका बलात्कार मामले में पुलिस ने वारदात के दौरान इस्तेमाल की गई रॉड भी बरामद कर ली है. पुलिस कमिश्नर हेमंत नागराले ने इस बारे में विस्तार से जानकारी देते हुए बताया कि आरोपी के खिलाफ एससी एसटी और अत्याचार अधिनियम जोड़ा गया है, क्योंकि मृतक पीड़िता एक विशेष समुदाय से थी. उनके मुताबिक इस दरिंदगी को अंजाम देने वाले आरोपी ने अपना गुनाह कुबूल कर लिया है.

हेमंत नागराले ने आगे बताया कि आरोपी को 21 सितंबर तक पूछताछ के लिए पुलिस हिरासत में लिया गया है. उनके अनुसार पुलिस ने पूरी घटना का क्रम स्थापित किया है, पीड़िता वहां कैसे पहुंची, आरोपी वहां कैसे पहुंचा और फिर आरोपी कैसे वारदात को अंजाम देकर वहां से फरार हुआ? इन सवालों के जवाब जांच के दौरान तलाश किए जा रहे हैं. पुलिस ने छानबीन के दौरान वो रॉड भी बरामद कर ली है, जिसका इस्तेमाल आरोपी ने वारदात के दौरान किया था. इस मामले के विशेष वकील एडवोकेट राजा ठाकरे होंगे. मामले में एक महीने के अंदर चार्जशीट दाखिल कर दी जाएगी. हम एक पखवाड़े के भीतर जांच पूरी कर लेंगे और हम डीएनए प्रोफाइलिंग रिपोर्ट और रासायनिक विश्लेषण रिपोर्ट का इंताजर करेंगे.

मुंबई पुलिस के मुख्य नियंत्रण कक्ष में 10 सितंबर शुक्रवार तड़के 3.30 बजे एक कॉल आई थी कि मुंबई के साकी नाका इलाके में खैरानी रोड पर खून से लथपथ एक महिला बेहोश हालत में पड़ी है. सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और उसे घाटकोपर के राजावाड़ी अस्पताल ले गई. जहां इलाज के दौरान महिला ने दम तोड़ दिया था. इस संबंध में पुलिस ने आईपीसी की धारा 376 और 307 के तहत मामला दर्ज किया था. लेकिन अब उसमें एससी एसटी अधिनियम की धारा भी जोड़ दी गई है. इस खौफनाक वारदात के दौरान आरोपी ने एक 32 वर्षीय महिला के साथ पहले बलात्कार किया गया और रेप के बाद उसके प्राइवेट पार्ट में रॉड डाल दी थी. महिला को बहुत गंभीर हालत में अस्पताल पहुंचाया गया था. इस मामले में जानकारी होने के बाद पुलिस ने दबिश देकर मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया था. पहले पुलिस को ये आशंका भी थी कि इस वारदात में और भी आरोपी शामिल हो सकते हैं. महिला के साथ जिस तरह की दरिंदगी की गई, उसे देखकर दिल्ली के निर्भयाकांड की यादें ताजा हो गई थी. 


लोगसत्ता न्यूज
Anilkumar Upadhyay