मुंबई : शिवसेना नेता ने मुंबई में एनसीबी की कार्यशैली की न्यायिक जांच के लिए उच्चतम न्यायालय में याचिका दायर की

मुंबई : शिवसेना नेता ने मुंबई में एनसीबी की कार्यशैली की न्यायिक जांच के लिए उच्चतम न्यायालय में याचिका दायर की

मुंबई : शिवसेना के एक नेता ने क्रूज पोत से मादक पदार्थों की कथित जब्ती के मामले में अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान की गिरफ्तारी के मद्देनजर उच्चतम न्यायालय में याचिका दायर कर है। याचिका में मुंबई में स्वापक नियंत्रण ब्यूरो (एनसीबी) और इसके अधिकारियों की कार्यशैली की न्यायिक जांच कराने का अनुरोध किया गया है। याचिका में न्यायालय से आर्यन के मौलिक अधिकारों की रक्षा के लिए स्वत: संज्ञान लेने का आग्रह किया गया है। आर्यन को एनसीबी के क्षेत्रीय कार्यालय, मुंबई ने स्वापक औषधि और मन: प्रभावी पदार्थ अधिनियम (एडीपीएस) के तहत गिरफ्तार किया है।
शिवसेना नेता किशोर तिवारी ने यह याचिका दायर की है। याचिका में कहा गया है, ‘‘मैं मुंबई में एनसीबी की दुर्भावनापूर्ण शैली, दृष्टिकोण और प्रतिशोध की अनुचित कार्यशैली और इसके अधिकारियों द्वारा पिछले दो वर्षों से चुनिंदा फिल्मी हस्तियों तथा कुछ मॉडल को निशाना बनाए जाने की ओर ध्यान दिलाना चाहता हूं और एनसीबी अधिकारी की भूमिका का पता लगाने के लिए विशेष न्यायिक जांच तथा जांच शुरू करने का अनुरोध करना चाहता हूं।’’ राकांपा नेता एवं महाराष्ट्र के मंत्री नवाब मलिक के उस बयान का हवाला देते हुए जिसमें उन्होंने एनसीबी पर आरोप लगाए थे, याचिका में कहा गया है कि सच्चाई को उजागर करने के लिए एनसीबी की जांच शीर्ष अदालत के न्यायाधीश द्वारा की जानी चाहिए। आर्यन क्रूज पोत से मादक पदार्थों की कथित जब्ती के मामले में मध्य मुंबई स्थित ऑर्थर रोड जेल में बंद है।


लोगसत्ता न्यूज
Anilkumar Upadhyay