मनपा की सफल नीतियों का जोर और मुंबईकरों की सतर्कता से कोरोना हुआ कमजोर! रिप्रोडक्शन वैल्यू हुई एक से भी कम

मनपा की सफल नीतियों का जोर और मुंबईकरों की सतर्कता से कोरोना हुआ कमजोर! रिप्रोडक्शन वैल्यू हुई एक से भी कम

मुंबई : महानगर में मनपा की सफल नीतियों का जोर और मुंबईकरों की सतर्कता से कोरोना कमजोर हो गया है। लगातार कोरोना पस्त होता जा रहा है। अब तो कोरोना की संक्रमण क्षमता इतनी कमजोर हो गई है कि वह एक व्यक्ति को भी पूरी तरह से संक्रमित नहीं कर पा रहा है। जी हां, अब कोरोना संक्रमण से एक व्यक्ति के संक्रमित होने की संभावना ०.९४ प्रतिशत ही रह गई है। मनपा ने लोगों को सावधानी बरतने की सलाह देते हुए प्रोटोकॉल बढ़ाया है। इसके अलावा महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने भी नागरिकों से सावधान रहने की बात कही है। उन्होंने कहा है कि यदि असावधानी बरती गई तो दिवाली के बाद कोरोना फिर से बढ़ सकता है।
चेन्नई के एक संस्थान के शोधकर्ताओं का दावा है कि अब कोरोना की संक्रमण क्षमता (रिप्रोडक्शन वैल्यू) अर्थात आर वैल्यू अब एक से भी कम ०.९४ हो गई है।
आर वैल्यू दर्शाता है कि कोरोना संक्रमण कितना कुशल है, कोरोना का एक बीमार कितने लोगों को संक्रमित कर सकता है? अर्थात कोरोना की प्रसार क्षमता अब एक व्यक्ति से भी कम हो गई है।
नासिक में पत्रकारों से बात करते हुए स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि फिलहाल कहीं भी तीसरी लहर की शुरुआत नहीं हुई है लेकिन दिवाली के बाद कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ने की संभावना है, ऐसी भविष्यवाणी टास्क फोर्स ने की है। फिलहाल मरीजों की संख्या में कमी आई है। संक्रमण दर में कमी आई है लेकिन कोरोना टेस्ट कम नहीं हुए हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर की तीव्रता में कमी आई है लेकिन मुंबई में कोरोना से किसी की मौत नहीं हुई है, यह टीकाकरण का लाभ हुआ है। फिलहाल मरीजों की संख्या में कमी आई है इसलिए अर्थव्यवस्था शुरू होनी चाहिए।


लोगसत्ता न्यूज
Anilkumar Upadhyay