२.७३ लाख लोग मिले बिना मास्क, अब तक कुल दंड ७७.५ करोड़ रुपए हुआ जमा

२.७३ लाख लोग मिले बिना मास्क, अब तक कुल दंड ७७.५ करोड़ रुपए हुआ जमा

मुंबई : कोरोना महामारी से बचने के लिए सबसे कारगर मास्क को माना गया है इसीलिए मनपा और डॉक्टर लोगों को मास्क पहनने की सलाह देते रहते हैं। लेकिन मनपा एवं विशेषज्ञों के तमाम दिशा-निर्देशों के बावजूद लोग मास्क के नियमों का उल्लंघन करने में पीछे नहीं हैं। आश्चर्य होगा कि एक वार्ड में बिना मास्कवालों से मनपा ने औसतन २.६ करोड़ रुपए वसूले हैं। सबसे अधिक के/वेस्ट वार्ड में लगभग ५.६३ करोड़ रुपए मनपा ने दंड वसूला है। यहां दो लाख ७३ हजार से अधिक लोगों पर कार्रवाई की गई है। मतलब लापरवाही में अंधेरी (प.) अव्वल है। इसके बाद टी वार्ड, एल वार्ड, के/ईस्ट और एस वार्ड भी बिना मास्कवाले लापरवाहों की सीरीज में बना है। ऐसे लापरवाहों से अब तक कुल ७७.५ करोड़ रुपए दंड वसूले गए हैं।
बता दें कि के/वेस्ट वार्ड इलाका मुंबई के पॉश इलाकों में से एक है। विलेपार्ले (पश्चिम), जुहू, अंधेरी (पश्चिम), लोखंडवाला, वर्सोवा, ओशिवरा और जोगेश्वरी (पश्चिम) का भाग आता है। यहां सबसे अधिक बिना मास्कवाले मिले हैं। सबसे कम बिना मास्कवालों पर बी वार्ड और सी वार्ड में कार्रवाई हुई है। बी वार्ड में १.३७ करोड़ रुपए दंड वसूले गए हैं, तो बी वार्ड में १.५७ करोड़ रुपए दंड वसूले गए हैं।
मुंबई में मनपा कोरोना की रफ्तार को रोकने में सफल हुई है। मनपा की नीतियों के चलते कोरोना कंट्रोल में है। मनपा की इन नीतियों में मास्क अनिवार्य किया गया है। बिना मास्कवालों पर २०० रुपए दंड निर्धारित किया गया है। मनपा ने बिना मास्कवालों पर कार्रवाई के लिए लगभग ७ हजार मार्शल तैनात किया है। मार्शल जगह-जगह पुलिस के साथ मिलकर मास्क को लेकर लापरवाही करनेवालों पर कार्रवाई करते हैं।


लोगसत्ता न्यूज
Anilkumar Upadhyay