मुंबई क्या ड्रग तस्करों का अड्डा बन रहा है, पुलिस ने पिछले तीन साल में कई आरोपियों को किया गिरफ्तार

मुंबई क्या ड्रग तस्करों का अड्डा बन रहा है, पुलिस ने पिछले तीन साल में कई आरोपियों को किया गिरफ्तार

मुंबई : मुंबई में पैर जमाने के लिए ड्रग डीलर हर संभव प्रयास कर रहे हैं।  मुंबई पुलिस भी सतर्क है ताकि तस्करों के मंसूबे कामयाब न हों। मुंबई पुलिस की नशा विरोधी कार्रवाई पिछले तीन साल में सात गुना बढ़ गई है। इस दौरान मुंबई के विभिन्न थानों में मादक पदार्थों की तस्करी और बिक्री के 208 मामले दर्ज किए गए हैं। जिसमें 298 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है और उनके पास से 3,414 किलो मादक पदार्थ जब्त किया गया है। जिसकी कीमत 131 करोड़ रुपए आंकी गई है। यह खुलासा आरटीआई ने किया है।
आरटीआई कार्यकर्ता अनिल गलगली ने पिछले तीन वर्षों में मुंबई पुलिस द्वारा ड्रग तस्करों के खिलाफ की गई कार्रवाई का विवरण मांगा। मुंबई पुलिस एंटी-नारकोटिक्स सेल (एएनसी) के एसीपी संदीप काले ने गलगली की आरटीआई के जवाब में साल 2019, 2020 और 2021 (20/10/2021 तक) के लिए एनडीपीएस एक्ट के तहत की गई कार्रवाई की जानकारी दी है.  इस जानकारी के मुताबिक मुंबई में एएनसी की कुल 5 यूनिट काम कर रही हैं.  जिसमें साउथ रीजनल डिवीजन- आजाद मैदान यूनिट, सेंट्रल रीजनल डिवीजन- वर्ली यूनिट, वेस्ट रीजनल डिवीजन- बांद्रा, ईस्ट रीजनल डिवीजन- घाटकोपर यूनिट, नॉर्थ रीजनल डिवीजन। - कांदिवली इकाई शामिल है।  इन इकाइयों ने 3,414 किलोग्राम नशीला पदार्थ जब्त किया है।  इनमें भांग (सन), हशीश, एमडी, कोकीन, एमडीएमए, कोडीन, अफीम, एलएसडी काली मिर्च, अल्प्राजोमा, नाइट्रेट की गोलियां शामिल हैं।
साल 2019 और 2020 की तुलना में साल 2021 में ड्रग रोधी सेल ज्यादा सक्रिय हो गई है।  20 अक्टूबर, 2021 तक कार्यवाही सात गुना बढ़ गई है।  वर्ष 2019 में कुल 394.35 किलोग्राम माल जब्त किया गया था।  इसकी कुल कीमत 25.29 करोड़ रुपये है।  जबकि साल 2020 में 427.277 किलो माल जब्त किया गया था। इसकी कुल कीमत 22.24 करोड़ रुपये थी।  साथ ही 20 अक्टूबर 2021 को 2,592.93 किलो माल जब्त किया गया।



लोगसत्ता न्यूज
Anilkumar Upadhyay