ड्रग्स के खिलाफ मुंबई NCB ने की फिर बड़ी कार्रवाई, महाराष्ट्र के नांदेड़ में 1.1 टन गांजा पकड़ाया...

ड्रग्स के खिलाफ मुंबई NCB ने की फिर बड़ी कार्रवाई, महाराष्ट्र के नांदेड़ में 1.1 टन गांजा पकड़ाया...

मुंबई : नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो की मुंबई टीम ने महाराष्ट्र के नांदेड़ जिले से 1.1 टन गांजा पकड़ा है.  पकड़े गए गांजे की कीमत 4 करोड़ के करीब है. गांजे की यह खेप आंध्र प्रदेश के विशाखापट्टनम से मुंबई आ रही थी. सप्लायर और रिसीवर की पहचान की जा रही है. 2 लोगों को गिरफ्तार किया गया है. दोनों आरोपी आंध्रप्रदेश के रहने वाले हैं. एनसीबी  के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े ने मीडिया को यह जानकारी दी है. नांदेड़ के नायगाव तालुका में मौजे मांजरम के पास इसे अवैध तरीके से ले जाते हुए पकड़ा गया.
एक दूसरी कार्रवाई में एनसीबी ने महाराष्ट्र के ही जलगांव से 1500 किलो का गांजा बरामद किया है. यह एक ट्रक में भर कर ले जाया जा रहा था. जलगांव के एरंडोल में यह जब्त किया गया है. गांजा आंध्रप्रदेश से महाराष्ट्र लाया जा रहा था. गांजे की ये खेप ना सिर्फ आंध्र प्रदेश से महाराष्ट्र लाई जा रही थी बल्कि इसे अन्य राज्यों में भी भेजे जाने की योजना थी.
मुंबई एनसीबी की टीम को सूचना मिली थी कि नायगाव तालुका (प्रखंड) के मौजे मांजरम के पास बड़े पैमाने पर अवैध तरीके से गांजा ले जाया जा रहा है. सूचना मिलते ही मुंबई एनसीबी की टीम सुबह पांच बजे के करीब मांजरम पहुंची. यहां स्थानीय पुलिस और गांव वालों की मदद से MH 26 AD 2165 नंबर वाली ट्रक को रोका गया. ट्रक की तलाशी ली गई. तलाशी में 35 बोरियों में भरे 4 करोड़ के गांजे को बरामद किया गया.
जलगांव में ऐसे पकड़ा गया 1500 किलो गांजा
मुंबई एनसीबी ने सुबह जलगाव जिले के एंरडोल में भी ऐसी ही एक कार्रवाई में 1500 किलो का गांजा बरामद किया. यहां भी एनसीबी को टिप मिली थी कि एक ट्रक में अवैध तरीके से गांजा ले जाया जा रहा है. एनसीबी ने ट्रक को रोक कर तलाशी ली तो करीब 1500 करोड़ का गांजा बरामद हुआ. यह आंध्रप्रदेश के विशाखापट्टनम से महाराष्ट्र लाया जा रहा था. गौर करने वाली बात यह है कि नांदेड़ में जब्त किया हुआ गांजा भी विशाखापट्टनम से ही लाया जा रहा था. गांजे की खेप को ना सिर्फ महाराष्ट्र में खपाने की योजना थी, बल्कि इसकी सप्लाई अन्य राज्यों में भी की जानी थी. फिलहाल एनसीबी द्वारा इस मामले में आगे की कार्रवाई शुरू है.



लोगसत्ता न्यूज
Anilkumar Upadhyay