CM उद्धव पर पूर्व CM फडणवीस का तंज, महाराष्ट्र में कोई एक मुख्यमंत्री नहीं, हर मंत्री खुद को CM मान रहा है

CM उद्धव पर पूर्व CM फडणवीस का तंज, महाराष्ट्र में कोई एक मुख्यमंत्री नहीं, हर मंत्री खुद को CM मान रहा है

महाराष्ट्र : महाराष्ट्र के पूर्व CM देवेंद्र फडणवीस ने मंगलवार को कहा कि अमरावती, मालेगांव और नांदेड़ में हुआ दंगा साधारण घटना नहीं है। यह देश में अराजकता फैलाने के लिए किया गया प्रयोग है। केंद्र सरकार के खिलाफ अल्पसंख्यकों का ध्रुवीकरण करने की यह सोची-समझी साजिश है।
फडणवीस ने कहा कि बांग्लादेश में हिंदुओं पर हुए अन्याय के खिलाफ 26 अक्टूबर को त्रिपुरा में एक रैली निकली थी। इस जुलूस और रैली में कोई हिंसा नहीं हुई, लेकिन 28 अक्टूबर को सोशल मीडिया के माध्यम से फर्जी पोस्ट वायरल कर अल्पसंख्यक समाज को भड़काया गया। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में हुए दंगों के लिए कहां-कहां से फंडिंग हुई, राज्य सरकार को इसकी पूरी जानकारी है। यही वजह है कि नवाब मलिक विपक्ष पर आरोप लगाकर कवर फायरिंग कर रहे हैं।
राज्य में ऐसा मुख्यमंत्री, जिसे लोग CM नहीं मानते
महाराष्ट्र भाजपा की प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक में फडणवीस ने कहा कि महाराष्ट्र देश का सबसे प्रगतिशील, समृद्ध और सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था वाला राज्य है। आज महाराष्ट्र में सरकार कहां है, यह पूछने की नौबत आ गई है। यहां सरकार का अस्तित्व कहीं दिखाई ही नहीं दे रहा है। एक मुख्यमंत्री हैं, लेकिन उन्हें कोई मुख्यमंत्री मानने को तैयार नहीं है। यहां का हर मंत्री खुद को मुख्यमंत्री मान रहा है।
राज्य में विश्वसनीयता का संकट
फडणवीस ने कहा कि महाराष्ट्र में हम ऐसे वक्त में कार्यकारिणी की बैठक कर रहे हैं, जब राज्य में विश्वसनीयता का संकट हो गया है। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में जब भाजपा की सरकार थी, तो समृद्धि महामार्ग, मेट्रो, कर्ज मुक्ति, किसानों को मदद, डिजिटल इंडिया और औद्योगिकीकरण जैसे मुद्दों पर चर्चा होती थी। आज उद्धव ठाकरे के नेतृत्व वाली महाविकास अघाड़ी सरकार के कार्यकाल में चर्चा हो रही है, तो गांजा यानी हर्बल तंबाकू, CBD स्मोक, वसूली, स्थगन, बलात्कार, दंगा, फिरौती और भ्रष्टाचार के मुद्दों पर हो रही है।
हर विभाग में सचिन वझे, बस घूस दो राज करो
फडणवीस ने कहा कि महाराष्ट्र के इतिहास की यह सबसे भ्रष्ट सरकार है। यहां के हर विभाग में एक सचिन वझे है। महाराष्ट्र में कानून राज नहीं है बल्कि कुछ दो (घूस) और राज करो का शासन है। उन्होंने आयकर विभाग के छापे और उसके बयान के आधार पर कहा कि महाराष्ट्र में 500-1000 करोड़ रुपए की वसूली अलग-अलग विभागों में चल रही है। पूर्व मुख्यमंत्री ने राज्य सरकार पर किसानों के मुद्दों की अनदेखी करने का आरोप लगाते हुए ठाकरे सरकार को निर्लज्ज सरकार बताया। उन्होंने ठाकरे सरकार के खिलाफ सड़क पर उतरने की अपील की।
संजय राउत की खिल्ली उड़ाई, कहा- क्या थे तुम, क्या बन गए
फडणवीस ने शिवसेना प्रवक्ता और राज्यसभा सांसद संजय राउत की खिल्ली उड़ाते हुए कहा, 'क्या थे तुम, क्या बन गए हो?' मराठी कहावत का इस्तेमाल कर उन्होंने कहा कि हमें किसी से भी डरने की जरूरत नहीं है, क्योंकि हमारे पास न तो इनामी संपत्ति है और न ही बेनामी।


लोगसत्ता न्यूज
Anilkumar Upadhyay