कोस्टल रोड : २०२३ से पहले प्रोजेक्ट पूरा करने का लक्ष्य

कोस्टल रोड : २०२३ से पहले प्रोजेक्ट पूरा करने का लक्ष्य

मुंबई : मनपा की महत्वाकांक्षी `मुंबई कोस्टल रोड परियोजना’ का काम इन दिनों फुल स्पीड में है। मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और राज्य के पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे की इस परियोजना पर लगातार नजर है, इसलिए इसके काम में बिल्कुल कोताही नहीं बरती जा रही है। अब तक मनपा ने इस परियोजना का ४५ प्रतिशत काम पूरा कर लिया है। परियोजना का सबसे महत्वपूर्ण भाग सुरंग बनाने का काम भी तेजी से हो रहा है। मावला टीबीएम मशीन ने अब तक पहली सुरंग का लगभग ८० प्रतिशत काम पूरा कर लिया है। इसके अलावा जगह-जगह पाइलिंग, गर्डर, स्लैब आदि बनाने का काम भी जोरों पर है।
इस बारे में जानकारी देते हुए कोस्टल रोड परियोजना के मुख्य इंजीनियर विजय निगोटे ने कहा कि कोस्टल रोड परियोजना के तहत समुद्र के नीचे से गुजरनेवाली २,००० मीटर की दो सुरंगों में से एक का ८० प्रतिशत से अधिक काम पूरा हो गया है। हमने अब तक १,६५० मीटर सुरंग खुदाई का काम पूरा किया है।
बचा हुआ २० प्रतिशत काम आगामी जनवरी महीने के प्रथम सप्ताह तक पूरा हो जाएगा। अगले वर्ष के अंत तक दोनों सुरंगों का काम पूरा हो जाएगा। उन्होंने कहा कि यह परियोजना अपनी पूरी रफ्तार से चल रही है।
इस प्रोजेक्ट के बाकी काम जैसे मोनो पाइलिंग स्लैब और ब्रिज का गर्डर बनाने के काम भी बहुत तेजी से शुरू है। मोनो पाइलिंग तकनीक पहली बार हिंदुस्थान में इस्तेमाल की जा रही है। इससे समय भी कम लगेगा और समुद्र में जीव जंतुओं को नुकसान भी कम होगा। मनपा के खजाने में सैकड़ों करोड़ रुपए की बचत भी हो रही है। समुद्र में पुल बनाने का काम भी शुरू है।


लोगसत्ता न्यूज
Anilkumar Upadhyay