मुंबई : ड्यूटी पर ज्वाइन हुए बिना ही सरकारी गाड़ी का इस्तेमाल कर रहे हैं परमबीर सिंह महाराष्ट्र सरकार ने दिए जांच के आदेश!

मुंबई : ड्यूटी पर ज्वाइन हुए बिना ही सरकारी गाड़ी का इस्तेमाल कर रहे हैं परमबीर सिंह महाराष्ट्र सरकार ने दिए जांच के आदेश!

मुंबई : दिन मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह चांदीवाल कमीशन के सामने पेश हुए थे। पेशी के पहले परमबीर सिंह और बर्खास्त पुलिस अधिकारी सचिन वझे के बीच तकरीबन आधे घंटे तक मुलाकात हुई थी। इस मुलाकात पर महाराष्ट्र सरकार के गृह मंत्रालय ने अपनी नाराजगी जाहिर की है। गृह मंत्री दिलीप वलसे पाटील ने पत्रकारों को बताया कि इस मामले की जांच के आदेश दिए गए हैं। अब इस पूरे मामले की जांच एक एसीपी स्तर के अधिकारी कर रहे हैं।
सवाल यह भी खड़ा हो रहा है कि आखिर किसकी अनुमति से परमबीर सिंह सचिन वझे के बीच मुलाकात हुई। दोनो लोगों की मुलाकात का विरोध पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख के वकील की तरफ से किया गया था। इस मामले में तलोजा जेल के एक पुलिसकर्मी का बयान भी दर्ज किया गया है। जिसकी रिपोर्ट नवी मुंबई के पुलिस कमिश्नर को सौंप दी गयी है।
सरकारी गाड़ी के इस्तेमाल पर ऐतराज
परमबीर सिंह भले ही मुंबई लौट आए हैं लेकिन उन्होंने अबतक उन्होंने गृह विभाग को रिपोर्ट नहीं किया है और ना ही डीजी होमगार्ड का पदभार संभाला है। बावजूद इसके वह लगातार अलग-अलग जगहों पर अपने बयान दर्ज करवाने के लिए सरकारी गाड़ी का इस्तेमाल कर रहे हैं। इस पूरे मसले पर गृह विभाग ने अपनी आपत्ति दर्ज कराई है। इस मामले की भी जांच के आदेश गृहमंत्री दिलीप वलसे पाटील ने दिए हैं।
गैर जमानती वारंट रद्द
परमबीर सिंह मंगलवार दोपहर मुंबई किला कोर्ट पहुंचे थे जहां उन्होंने अपने खिलाफ जारी गैर जमानती वारंट को रद्द करने की अपील की थी। कई समन भेजने के बावजूद जब परमबीर सिंह अदालत में हाज़िर नहीं हुए तब उनके खिलाफ नॉन बेलेबल वारंट जारी किया गया था। फिलहाल उनके खिलाफ जारी गैर जमानती वारंट रद्द कर दिया गया है।


लोगसत्ता न्यूज
Anilkumar Upadhyay