एनसीबी में एक्सटेंशन लेने के मूड में नहीं हैं जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े, 31 दिसंबर को खत्म हो रहा कार्यकाल

एनसीबी में एक्सटेंशन लेने के मूड में नहीं हैं जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े, 31 दिसंबर को खत्म हो रहा कार्यकाल

मुंबई : मुंबई ड्रग्स क्रूज पार्टी में बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख़ खान के बेटे आर्यन खान की कथित गिरफ्तारी के बाद सुर्ख़ियों में आने वाले मुंबई नारकोटिक्स सेल के जोनल डायरेक्टर समीर वानखेड़े का कार्यकाल 31 दिसंबर को खत्म हो रहा है। विश्वसनीय सूत्रों का कहना है कि समीर वानखेड़े एनसीबी में एक्सटेंशन लेने के मूड में नहीं हैं। बॉलीवुड ड्रग्स केस में कार्रवाई के बाद से समीर वानखेड़े पर लगातार सवाल खड़े हो रहे हैं। यहां तक की महाराष्ट्र सरकार में मंत्री और एनसीपी नेता नवाब मलिक तो प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कई बार खुले तौर पर उन पर गंभीर आरोप भी लगा चुके हैं। माना जा रहा है कि इसी विवादों के चलते समीर एक्शटेंशन नहीं लेना चाहते है।
गौरतलब है कि समीर वानखेड़े का सितंबर में कार्यकाल खत्म हो रहा था, लेकिन उन्हें दिसंबर तक चार महीने का एक्सटेंशन दिया गया था। समीर वानखेड़े के नेतृत्व में एनसीबी की टीम ने अक्टूबर में क्रूज पर छापा मारा था। इस दौरान शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान समेत 8 लोगों को गिरफ्तार किया गया था। इस केस में जांच और गिरफ्तार आरोपियों से पूछताछ के आधार पर कुल 20 लोग गिरफ्तार किए गए थे। इनमें से कुछ बड़े नाम थे और कुछ ड्रग पेडलर्स और सप्लायर्स की भी गिरफ्तारी हुई थी। बॉम्बे हाईकोर्ट ने आर्यन खान को जमानत दे दी थी। बाद में एनसीबी ने समीर वानखेड़े से ड्रग्स केस समेत 6 केस वापस ले लिया था। एनसीबी की इस कार्रवाई पर नवाब मलिक ने सवाल उठाए थे। वे प्रेस कॉन्फ्रेंस कर लगातार समीर वानखेड़े पर निशाना साधते रहे। उन्होंने समीर वानखेड़े की जाति और धर्म को लेकर भी सवाल उठाए थे। इसके बाद समीर वानखेड़े ने हाईकोर्ट में मलिक के खिलाफ मानहानि का केस भी दर्ज कराया था।


लोगसत्ता न्यूज
Anilkumar Upadhyay