मुंबई में फिलहाल ओमीक्रॉन का एक भी केस नहीं है

मुंबई में फिलहाल ओमीक्रॉन का एक भी केस नहीं है

मुंबई : मुंबईकरों के लिए राहतभरी खबर है। वर्तमान में कोरोना के नए वेरियंट ओमिक्रॉन का एक भी मरीज नहीं है। पूरे 14 मरीज स्वस्थ हो गए हैं। इनमें से 13 मरीजों को डिस्चार्ज दे दिया गया है। एक मरीज को शुक्रवार को डिस्चार्ज दिया जाएगा। बता दें कि ओमिक्रॉन का सबसे पहला मरीज 35 वर्षीय व्यक्ति मिला था, जो दक्षिण अफ्रीका से नवंबर में मुंबई आया था। इसके बाद उसके संपर्क में आई 34 वर्षीय महिला भी ओमिक्रॉन संक्रमित पाई गई। इस प्रेमी युगल के बाद तंजानिया से धारावी आया 48 वर्षीय व्यक्ति, लंदन से आया 25 वर्षीय युवक और दक्षिण अफ्रीका से आया गुजरात निवासी 37 वर्षीय व्यक्ति ओमिक्रॉन संक्रमित पाया गया था। इसके बाद, मंगलवार को 8 और बुधवार को ओमिक्रॉन के दो मरीज मिले थे।
बीएमसी के अतिरिक्त आयुक्त सुरेश काकानी ने बताया कि 14 मरीजों की कोविड रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद 13 को सेवनहिल्स अस्पताल से डिस्चार्ज दे दिया गया है और एक मरीज को जल्द ही डिस्चार्ज दे दिया जाएगा। सेवनहिल्स अस्पताल के ओएसडी डॉ. महारुद्र कुंभार ने बताया कि फिलहाल, सेवन हिल्स अस्पताल में 49 ओमिक्रॉन संदिग्ध मरीज हैं। इनकी हालत स्थिर है। इनमें से कुछ ही को कोरोना के मामूली लक्षण हैं। रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद इन्हें भी डिस्चार्ज दे दिया जाएगा। वहीं, बॉम्बे अस्पताल में ओमिक्रॉन के 6 संदिग्ध मरीजों का इलाज चल रहा है।
ओमिक्रॉन के मामलों के बीच कोरोना के नए मरीजों की संख्या 300 के नीचे ही है। दिसंबर की शुरुआत से कोरोना के नए मरीजों की संख्या 200 से 300 के बीच रही है। दिसंबर में टेस्टिंग का ग्राफ भी बढ़ा है। इन दिनों रोजाना 40 हजार से अधिक लोगों की जांच हो रही है। दिसंबर में सिर्फ 3 से 4 दिन ही टेस्टिंग की संख्या 31 हजार रही होगी।
धारावी में ओमिक्रॉन का मरीज मिलने के बाद भी यहां कोरोना नियंत्रण में है। वर्तमान में कभी यहां शून्य तो कभी सिर्फ एक ही कोरोना मरीज मिलता है। गुरुवार को धारावी और उससे सटे माहिम में कोरोना का एक भी नया मामला नहीं मिला है, जबकि भीड़भाड़ वाले दादर इलाके में सिर्फ एक ही मरीज मिला है। मंगलवार को तो दादर में कोरोना का एक भी नया मामला नहीं मिला था।


लोगसत्ता न्यूज
Anilkumar Upadhyay