योगी राज के दौरान पांच साल में उत्तर प्रदेश से माफियाओं का सफाया हुआ : केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह

योगी राज के दौरान पांच साल में उत्तर प्रदेश से माफियाओं का सफाया हुआ : केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह

सहारनपुर : केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कहा है कि उत्तर प्रदेश में योगी राज के दौरान पांच साल में प्रदेश से माफियाओं का सफाया हुआ है। यहां के माफिया या तो जेल में हैं या प्रदेश के बाहर चले गये हैं या सपा के उम्मीदवारों की सूची में शामिल है।
इस दौरान देवबंद में उम्मीद से ज्यादा भीड़ एकत्र होने के कारण शाह को घर घर जाकर जनसंपर्क अभियान को बीच में ही छोड़ कर वापस जाना पड़ा। उल्लेखनीय है कि चुनाव आयोग द्वारा लागू कोविड प्रोटोकाॅल के कारण निर्धारित संख्या से अधिक तादाद में लोगों की भीड़ एकत्र कर चुनाव प्रचार करने की छूट नहीं है।
इससे पहले शाह ने विधान सभा चुनाव के दौरान सहारनपुर जिले में शनिवार को प्रभावी मतदाता संवाद कार्यक्रम को संबोधित करते हुये कहा कि सपा के शासन का गुंडाराज, माफिया राज, बलात्कार व हत्याओं की घटनायें प्रदेश की जनता भूली नहीं है। उन्होंने कहा कि इसके उलट भाजपा के शासन में उत्तर प्रदेश में एक भी बड़ा दंगा नहीं हुआ है।
शाह ने कहा कि पिछले चुनाव में वह चुनावी वायदे लेकर आए थे, मगर इस बार सरकार के कार्य लेकर आए हैं। उन्होंने कहा कि हर बार प्रदेश की जनता ने भाजपा को भरपूर सहयोग व समर्थन दिया है। इस बार भी जनता का प्यार वह समर्थन उन्हें भरपूर मिलेगा।
शाह ने कहा कि पिछली सरकारों में हर जनपद में एक मिनी सीएम व एक माफिया को अपना वोट बैंक मजबूत करने के लिए छोड़ा जाता था। उन्होंने कहा, “योगी राज में प्रदेश से माफियाओं का पत्ता साफ हुआ है। यहां के माफिया या तो जेल में हैं या प्रदेश के बाहर है अथवा सपा की टिकट सूची में शामिल है।”
उन्होंने देश, प्रदेश और जनपद के विकास के लिये पांच सालों में किए गए कार्यों का विवरण पेश करते हुये मतदाताओं से सहारनपुर देहात सीट से जगपाल सिंह को जिताने की अपील की। इस दौरान सहारनपुर के सांसद विजयपाल तोमर सहित अन्य वरिष्ठ स्थानीय नेता उपस्थित थे।
इसके बाद शाह इस्लामिक शिक्षा के प्रमुख केंद्र दारूल उलूम देवबंद में जनसंपर्क अभियान में शरीक होने के लिये रवाना हुये। हालांकि, देवबंद में उम्मीद से ज्यादा भीड़ एकत्र होने के कारण उपजी बदइंतजामी की वजह से शाह लगभग 15 मिनट तक ही जनसंपर्क अभियान में रह सके। इस दौरान वह पूरी तरह संयमित और प्रसन्नचित नजर आये लेकिन जाते जाते उन्होंने स्थानीय विधायक बृजेशा रावत और भाजपा के जिलाध्यक्ष महेन्द्र सैनी से नाखुशी जाहिर करने से भी नहीं चूके।
देवबंद में एमबीडी चौक पर जब दोपहर लगभग ढाई बजे शाह पहुंचे, तब तक वहां भारी संख्या में लोग एकत्र हो चुके थे। घर घर जाकर जनसंपर्क अभियान में वह बमुश्किल 50 कदम ही चल पाये। भीड़ के बेकाबू होने के कारण गृह मंत्री को वापस लौटना पड़ा।
पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के मुताबिक केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान और पूर्व सांसद राघव लखनपाल सहित अन्य स्थानीय वरिष्ठ नेताओं को शाह के साथ रहना था और इससे पहले पुष्प देकर उनका स्वागत भी करना था। लेकिन भीड़ जनित अव्यवस्था के कारण ऐसा नहीं हो पाया। आगे जाकर कुछ स्थानों पर ृमहिलाओं को अमित शाह का तिलक कर स्वागत करना था लेकिन शाह के बीच रास्ते से ही लौट जाने के कारण वे मायूस रह गईं।
इस बीच शाह ने हिम्मत और हौंसले के साथ गर्मजोशी दिखाते हुए लोगों को योगी सरकार की उपलब्धियां दर्शाने वाले पर्चे बांटे। शाह खुद को संभालते हुए लोगों का अभिवादन स्वीकार कर रहे थे। भीड़ के कारण वह कुछ देर ही जनसंपर्क अभियान में रुक सके।



लोगसत्ता न्यूज
Anilkumar Upadhyay