मुंबई में जल्द गैर-बीजेपी मुख्यमंत्रियों का सम्मेलन, मौजूदा राजनीतिक स्थिति पर होगी चर्चा- शिवसेना सांसद संजय राउत

मुंबई में जल्द गैर-बीजेपी मुख्यमंत्रियों का सम्मेलन, मौजूदा राजनीतिक स्थिति पर होगी चर्चा- शिवसेना सांसद संजय राउत

मुंबई : शिवसेना सांसद संजय राउत ने कहा कि देश में मौजूदा राजनीतिक स्थिति पर चर्चा के लिए गैर-भारतीय जनता पार्टी के मुख्यमंत्रियों का एक सम्मेलन जल्द ही मुंबई में होने की संभावना है.शिवसेना नेता ने कहा कि पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने उन राज्यों में अपने समकक्षों को पत्र लिखा है जहां भाजपा सत्ता में नहीं है और उन्होंने देश में मौजूदा स्थिति पर चर्चा करने की आवश्यकता पर बल दिया है. संजय राउत ने आगे कहा, "राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के प्रमुख शरद पवार और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने इस पर चर्चा की है और मुंबई में इस तरह का एक सम्मेलन आयोजित करने के प्रयास जारी हैं." उन्होंने बताया कि बेरोजगारी, महंगाई, केंद्रीय जांच एजेंसियों के 'दुरुपयोग' और सांप्रदायिक कलह पैदा करने के प्रयासों सहित विभिन्न मुद्दों पर आगामी बैठक में चर्चा की जाएगी. गौरतलब है कि शिवसेना सांसद का बयान 13 विपक्षी दलों के नेताओं द्वारा देश भर में अभद्र भाषा और सांप्रदायिक हिंसा की हालिया घटनाओं की निंदा करने के एक दिन बाद आया है, जिसमें लोगों से शांति और सद्भाव बनाए रखने का आग्रह किया गया है.

एक संयुक्त बयान में, बनर्जी, कांग्रेस प्रमुख सोनिया गांधी, एनसीपी प्रमुख शरद यादव, तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम के स्टालिन और झारखंड के सीएम हेमंत सोरेन ने इस बात पर चिंता जताई कि भोजन, पोशाक, आस्था, त्योहारों और भाषा से संबंधित मुद्दों को सत्ता प्रतिष्ठान द्वारा समाज का ध्रुवीकरण करने के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है. राउत ने आरोप लगाया कि रामनवमी और हनुमान जयंती को चिह्नित करने के लिए निकाले गए जुलूसों पर हालिया कथित हमले "राजनीतिक रूप से प्रायोजित" थे और मतदाताओं का ध्रुवीकरण करने का प्रयास किया गया था, खासकर उन राज्यों में जहां चुनाव अगले कुछ महीनों में होने वाले हैं. वहीं भाजपा नेता माधव भंडारी ने कहा, "इस तरह की बैठकें पूर्व में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और बनर्जी जैसे नेताओं द्वारा बिना किसी ठोस परिणाम के की गई हैं." "उनकी राजनीति अपने लोगों के कल्याण के लिए नहीं बल्कि अपने स्वार्थ के लिए है. उन्होंने कहा कि उन्हें लोगों की पीड़ा से कोई सरोकार नहीं है.


लोगसत्ता न्यूज
Anilkumar Upadhyay