पोईसर नदी के मुहाने पर अवैध निर्माण, मलाड कांदीवली में भरेगा पानी

पोईसर नदी के मुहाने पर अवैध निर्माण, मलाड कांदीवली में भरेगा पानी

मुंबई : मनपा के आर/दक्षिण वार्ड और पी/उत्तर वार्ड में आने वाले लिंक रोड़ पर पोइसर नदी के मुहाने पर बने अवैध झोपड़े इस साल मानसून के दौरान बाढ़ का कारण बन सकते है। पोईसर नदी के मुहाने पर 6 मीटर की सड़क को चौड़ा कर 18 मीटर की सड़क बनाने का प्रस्ताव लाया गया है। लेकिन यहां बने अवैध झोपड़े पोईसर नदी के चौड़ीकरण में बाधा उत्पन्न कर रहे है। इस बारे में भाजपा के पूर्व नगरसेवक कमलेश यादव ने मनपा के अतिरिक्त आयुक्त पी.वेलरासू से इसकी शिकायत की है और पोइसर नदी के आसपस हो रहे अवैध निर्माण पर तत्काल कार्रवाई करने की गुहार लगाई है। बता दे की मनपा के आर/दक्षिण और पी/उत्तर वार्ड की हद में आने वाली पोइसर नदी जिस स्थान पर समुद्र में मिलती है, उसके आस-पास में बड़े पैमाने पर अवैध झोपड़े खड़े किए जा रहे है। साथ ही नालों को पाटकर भी वहां निर्माण कार्य खड़े किये जा रहे हैं।

इससे जो पानी नालों के जरिये बह कर नदी में मिल जाता था, वह अब रिहायशी इलाकों की तरफ बढ़ेगा, जिससे बाढ़ की स्थिति पैदा होगी। एक तरफ मुख्यमंत्री मुंबई में खड़े होने वाले अवैध झोपड़ों पर कार्रवाई करने का निर्देश देते है तो वहीं दूसरी तरफ मनपा अधिकारियों की लापरवाही से पोईसर नदी पर लिंक रोड़ की ओर अवैध झोपड़ों की भरमार होती जा रही है। पोईसर नदी से लगे हुए मनपा ने 18.30 मीटर चौड़ा रास्ता बनाने का प्रस्ताव सामने लाया है, जो अभी फिलहाल 6 मीटर का है। लेकिन प्रस्तावित सड़क के भूखंड पर अवैध निर्माण कर झोपड़े खड़े किए जा रहे है। यादव ने पत्र में आरोप लगाया कि अगर अवैध झोपड़े को मानसून पूर्व नहीं हटाया गया तो मलाड और कांदिवल में लिंक रोड़ परिसर में पानी भरना तय है इसके लिए मनपा अधिकारी ही जिम्मेदार होंगे।


लोगसत्ता न्यूज
Anilkumar Upadhyay