रूस-यूक्रेन युद्ध बीच, यूक्रेन को नहीं बचा पाएगी अमेरिकी खुफिया मदद...

रूस-यूक्रेन युद्ध बीच, यूक्रेन को नहीं बचा पाएगी अमेरिकी खुफिया मदद...

रूस-यूक्रेन युद्ध को एक महीने से भी अधिक हो गया है. इस युद्ध में हजारों लोग मारे गए हैं और 13 मिलियन से अधिक विस्थापित हो गए हैं. यह यूरोप में द्वितीय विश्व युद्ध के बाद सबसे बड़ा शरणार्थी संकट बन गया है. परमाणु हथियारों पर चर्चा वैश्विक चिंता का विषय बन गई है. इस बीच रॉयटर्स के अनुसार, यूक्रेन के प्रधानमंत्री डेनयीस शमिहाल ने बताया कि युद्ध शुरु होने से अब तक युक्रेन को $12 बिलियन से अधिक की हथियारों की और आर्थिक मदद मिल चुकी हैं. उन्होंने दान-दाताओं को धन्यवाद भी दिया. रूस की संसद ने गुरुवार को कहा कि वो जानती है कि अमेरिका, ब्रिटेन और दूसरे NATO देश लगाता यूक्रेन की सेना को खुफिया मदद दे रहे हैं लेकिन इससे रूस अपने लक्ष्य को पाने से नहीं रुकेगा. रॉयटर्स के अनुसार, रूसी संसद क्रेमलिन के प्रवक्ता दिमित्री पेस्कोव ने रिपोर्ट पर प्रतिक्रिया देते हुए यह कहा जिसमें कहा गया था कि अमेरिका ने यूक्रेन की सेना को खुफिया मदद दी जिससे यूक्रेन की सेना को रूसी जनरलों की मारने में मदद मिली.  

यूरोपीय संघ की उड्डयन सुरक्षा एजेंसी  के रेगुलेटर्स ने गुरुवार को चेतावनी दी है कि यूक्रेन के युद्ध के कारण एयरलाइन्स के लिए खतरा बढ़ता ही जा रहा है. रॉयटर्स के अनुसार, एयरलाइन्स के गलती से टार्गेट बनने का खतरा बढ़ रहा है और साइबर अटैक का खतरा भी बढ़ रहा है. EASA ने एक डॉक्यूमेंट में कहा कि पिछले युद्ध में हमने ऐसा देखा है कि गलत पहचान हो जाती है, जिससे सभी को खतरा बढ़ जाता है. अगर हम नेविगेशन वगैहरा में प्रयोग आने वाली इलेक्ट्रॉनिक सहायता के जाम किए जाने बात करें तो यह आसानी से दिखता है कि कोई एयरक्राफ्ट बिना किसी गलती के मिसाइल या रडार के हथियार का निशाना बन सकता है." 

रूस-यूक्रेन युद्ध बीच रूस की ओर से वार्ताकार सांसद लियोनिड स्लटस्की ने कहा कि यूक्रेन के साथ बातचीत मुश्किल है. रॉयटर्स के अनुसार, लियोनिड यूक्रेन के प्रतिनिधियों पर मौजूदा समझौतों से "पीछे हटने का" आरोप लगाया. रूसी समाचार एजेंसी TASS के अनुसार, लियोनिड ने कहा, मैं रूस की तरफ से चार वार्ताकारों में से एक हूं, लेकिन यूक्रेन के साथ बातचीत मुश्किल है. यूक्रेनी एक समझौते पर पहुंच गए थे लेकिन फिर वो पीछे हट गए. " रूस के साथ युद्ध में यूक्रेन के जून के मध्य तक कोई पलटवार नहीं करने की संभावना है. रॉयटर्स के अनुसार, यूक्रेन को उम्मीद है कि उसे जून के मध्य में अपने सहयोगियों से और हथियार मिल जाएंगे. राष्ट्रपति वोलोदिमिर जेलेंस्की के एक सलाहकार ने गुरुवार को यह कहा. राजनैतिक सलाहकार ओलीक्सी अरिस्टोविच ने यह भी कहा कि उन्होंने नहीं लगता कि 9 मई से पहले यूक्रेन में रूस के हमले का कोई "बड़ा नतीजा" निकलने वाला है. 9 मई को रूस दूसरे विश्व युद्ध में नाजी जर्मनी पर विजय का उत्सव मनाता है.  


लोगसत्ता न्यूज
Anilkumar Upadhyay