राजद्रोह मामले में निर्दलीय सांसद नवनीत राणा और उनके विधायक पति रवि राणा को विशेष अदालत ने 18 मई को किया तलब

राजद्रोह मामले में निर्दलीय सांसद नवनीत राणा और उनके विधायक पति रवि राणा को विशेष अदालत ने 18 मई को किया तलब

मुंबई : महाराष्ट्र की एक विशेष अदालत ने हनुमान चालीसा पढ़ने की घोषणा पर राजद्रोह के मामले में निर्दलीय सांसद नवनीत राणा और उनके विधायक पति रवि राणा को 18 मई को उसके समक्ष पेश होने को कहा है। मुंबई पुलिस की राणा दंपती की जमानत खारिज करने की याचिका पर अदालत ने उन्हें तलब किया है। मुंबई पुलिस ने राणा दंपती की जमानत इस आधार पर खारिज करने की याचिका दी है कि उन्होंने पिछले हफ्ते विशेष अदालत की ओर से मंजूर जमानत की शर्तों का उल्लंघन किया है। सोमवार को खार पुलिस ने प्रदीप घराट के जरिये अदालत में याचिका दायर करते हुए कहा कि राणा दंपती ने मीडिया से बातचीत करके जमानत की शर्त का उल्लंघन किया है। इसके अलावा, अदालत ने यह भी शर्त लगाई थी कि वह 'राजद्रोह' जैसी गतिविधियों में फिर से शामिल नहीं हों। विशेष जज आरएन रोकाडे ने इसीलिए सोमवार की सुबह सरकारी वकील प्रदीप घराट की संक्षिप्त दलील के बाद राणा दंपती को 18 मई को अदालत के समक्ष पेश होने का नोटिस जारी किया है। इन दोनों पर राजद्रोह और दो समुदायों के बीच नफरत फैलाने का आरोप है। नवनीत राणा महाराष्ट्र के अमरावती से लोकसभा सांसद हैं और उनके पति रवि राणा अमरावती के बाड़नेर से विधायक हैं।

इन दोनों को मुंबई पुलिस ने विगत 23 अप्रैल महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के बांद्रा स्थित निवास मातोश्री के बाहर हनुमान चालीसा पढ़ने की घोषणा के बाद गिरफ्तार कर लिया था। निर्दलीय सांसद नवनीत राणा और उनके विधायक पति रवि राणा ने सोमवार को कहा कि वह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से मिलकर उनके खिलाफ महाराष्ट्र प्रशासन के अवैध तरीके से उन्हें जेल भेजने का मुद्दा उठाएंगे। नवनीत राणा ने मीडिया को दिए इंटरव्यू में कहा कि भाजपा की पीठ में छूरा घोंपने वाले मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे राणाओं को सिद्धांतों की सीख नहीं देनी चाहिए। राणा दंपती ने मीडिया से बात करके जमानत की शर्त तोड़ने के आरोपों को भी खारिज कर दिया है। उन्होंने कहा कि हमने हमारे खिलाफ दर्ज अपराध के बारे में किसी से बात नहीं की है। सांसद नवनीत ने कहा कि वह दिल्ली में महिलाओं का सम्मान करने वाले सभी नेताओं से मिलेंगी। हम पीएम, गृह मंत्री और लोकसभा अध्यक्ष से मिलने जा रहे हैं। और उन्हें बताएंगे कि लाकअप से जेल तक उनके साथ कैसा दु‌र्व्यवहार हुआ है। हम इस बारे में शिकायत करेंगे।  अमरावती से निर्दलीय सांसद नवनीत राणा ने कहा कि गुंडे जैसे सांसद ने मुझे खुलेआम धमकी दी थी। मैं संजय राउत जैसे 'पोपट' के खिलाफ जाकर एफआइआर दर्ज कराऊंगी, जिन्होंने कहा था कि वह मुझे 20 फीट गहरा दफना देंगे।


लोगसत्ता न्यूज
Anilkumar Upadhyay