मास्क का इस्तेमाल अनिवार्य किया जाए या नहीं को लेकर मतभेद... प्रशासन अनिवार्य करने के पक्ष में, मंत्री राजी नहीं

मास्क का इस्तेमाल अनिवार्य किया जाए या नहीं को लेकर मतभेद... प्रशासन अनिवार्य करने के पक्ष में, मंत्री राजी नहीं

मुंबई : मास्क का इस्तेमाल अनिवार्य किया जाए या नहीं, इस पर सरकारी मशीनरी और मंत्रियों के बीच मतभेद की खबर है। सूत्रों के अनुसार प्रशासन मास्क का इस्तेमाल अनिवार्य बनाना चाहता है, लेकिन इस पर मंत्री राजी नहीं है। मंत्रियों का कहना है कि दो साल में लोगों को खुली हवा में सांस लेने का अवसर मिला है, साथ ही पंढरपुर वारी शुरू होने वाली है, ऐसे में फिलहाल मास्क की सख्ती ठीक नहीं रहेगी। सोमवार को कैबिनेट की बैठक हुई, जिसमें सरकार के आला अधिकारियों ने कोरोना की स्थिति को लेकर प्रजेंटेशन दिया।

अधिकारियों का कहना था कि मुंबई, पालघर, रायगड और पुणे में तेजी से कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ी है, ऐसे में कोई खतरा नहीं उठाते हुए मास्क का उपयोग अनिवार्य किया जाए। हालांकि मंत्री इस पर राजी नहीं हुए। उनका कहना था कि मरीजों की संख्या भले ही बढ़ रही है, लेकिन लोग घर पर ही रहकर ठीक हो रहे हैं। उन्हें अस्पताल में भर्ती नहीं करना पड़ रहा है। मृत्यु भी नहीं हो रही है, फिर पाबंदी लागू करने की आवश्यकता क्या है? सूत्रों के अनुसार इस पर मुख्यमंत्री ठाकरे ने भी सहमति जताई और किसी प्रकार का निर्णय नहीं किया जा सका। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री  राजेश टोपे ने कहा कि कैबिनेट बैठक में मास्क को लेकर चर्चा हुई, लेकिन इसे अनिवार्य नहीं किया गया है। उन्होंने कहा कि बेहतर होगा कि लोग मास्क का उपयोग करे। जहां मरीज बढ़ रहे है, वहां टेस्टिंग बढ़ा दी गई है।


लोगसत्ता न्यूज
Anilkumar Upadhyay