सांताक्रुज में जलभराव से राहत दिलाने के लिए हिंदमाता और मिलन सबवे की तरह अन्य स्थानों पर होंगे उपाय

सांताक्रुज में जलभराव से राहत दिलाने के लिए हिंदमाता और मिलन सबवे की तरह अन्य स्थानों पर होंगे उपाय

मुंबई : भारी बारिश के दौरान जलभराव से राहत दिलाने के लिए मिलन सबवे को राहत देने के लिए जल संचयन जलाशय पर काम जोरों से शुरू है। इस साल इसका अस्थायी रूप से इस्तेमाल किया जा सकेगा। इससे सांताक्रुज क्षेत्र के नागरिकों को राहत मिलेगी। हिंदमाता और मिलन सबवे में भंडारण जलाशय कार्यों की तर्ज पर मुंबई स्थित जल संचयन जलाशय योजना की तर्ज पर मुंबई के अन्य स्थानों पर भी इसी तरह के उपाय की योजनाएं की जाएंगी। इस तरह की उद्गार पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे ने व्यक्त किया। सांताक्रुज  स्थित मिलन सबवे परिसर में जोरदार बारिश के दौरान होनेवाले जलभराव की स्थिति पैदा हो जाती है। ऐसे में बारिश के पानी को यहां से निकालने के लिए मनपा के वर्षा जल निकासी विभाग द्वारा मिलन सबवे के पास लायंस क्लब मैदान में भंडारण जलाशय का निर्माण किया जा रहा है। इस जलाशय के शुरू कामों का निरीक्षण करने के लिए पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे ने कल दोपहर दौरा किया। इस दौरान उन्होंने पत्रकारों से भी संवाद स्थापित किया। दौरे में अतिरिक्त मनपा आयुक्त (परियोजना) पी. वेलारसु, उपायुक्त (अवसंरचना) उल्हास महाले, मुख्य अभियंता (वर्षा जल) अशोक मेस्त्री सहित अन्य संबंधित अधिकारी मौजूद थे। पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे ने आगे कहा कि हिंदमाता क्षेत्र को बारिश के पानी से मुक्ति दिलाने के लिए सेंट जेवियर्स मैदान और प्रमोद महाजन उद्यान में जलाशयों का निर्माण किया गया है। गांधी मार्केट  में भी इसी तरह के उपाय किए गए हैं। भारी बारिश के कारण जमा पानी को निकालकर इन जलाशयों में एकत्रित किया जाएगा। इसी तरह के उपाय मिलन सबवे में भी किए जा रहे हैं। इसलिए भारी बारिश के दौरान हिंदमाता, गांधी मार्केट और मिलन सबवे को बारिश के रुके हुए पानी से राहत मिलेगी। पर्यावरण मंत्री आदित्य ठाकरे ने कहा कि कुल मिलाकर मुंबई में मानसून के दौरान आपदा की स्थितियों को कम करने के लिए विभिन्न उपाय किए गए हैं।


लोगसत्ता न्यूज
Anilkumar Upadhyay