मवशम के पहले कोई भी सिजनी खाने वाला जसे आम हो छीमी या गना हो तो बहुत ही सुन्दर दिखने में लगता है

मवशम के पहले कोई भी सिजनी खाने वाला जसे आम हो छीमी या गना हो तो बहुत ही सुन्दर दिखने में लगता है

बेमौसम बारिश ओलावृष्टि और तेज हवा से सिर्फ गेहूं की फसल की ही बर्बादी नहीं हुई है बल्कि बागवानी के ऊपर भी इसका प्रभाव पड़ा है खास कर बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि ने आम के बाग को बहुत अधिक नुकसान पहुंचाया है तेज हवा बहने से आम के छोटे छोटे फल गिर गए साथ ही जो फल थोड़े बहुत बचे हैं उनमें रोग लग गया है कहा जा रहा है कि मौसम में बदलाव होने से उत्तर प्रदेश के कई जिलों में ७० से ८० फीसदी तक आम की फसल प्रभावित हुई है ऐसे में इस बार आम की कीमत ज्यादा रहने का अनुमान है मेरठ मंडल के उपनिदेशक उद्यान विनीत कुमार का कहना है कि आम के बौर से फल बनने की स्टेज आ गई थी तभी आंधी के साथ बारिश हो गई जिससे बौर गिरे गए इनकी माने तो चौसा सफेदा और दशहरी आम को ज्यादा नुकसान पहुंचा है


लोगसत्ता न्यूज
Anilkumar Upadhyay