जानकारी के मुताबिक इस अभियान में सेना ने जम्मू कश्मीर पुलिस के साथ मिल कर थानामंडी बफलियाज केसरी हिल्स के साथ साथ अब राजौरी और पूंछ के कईं अन्य इलाकों में भी तलाशी अभियान तेज़ कर दिया है सुरक्षा बलों को शक है कि आतंकी लगातार अपनी लोकेशन बदल रहे हैं ऐसे में तलाशी के दायरे को बढ़ाया गया है इसके स

जानकारी के मुताबिक इस अभियान में सेना ने जम्मू कश्मीर पुलिस के साथ मिल कर थानामंडी बफलियाज केसरी हिल्स के साथ साथ अब राजौरी और पूंछ के कईं अन्य इलाकों में भी तलाशी अभियान तेज़ कर दिया है सुरक्षा बलों को शक है कि आतंकी लगातार अपनी लोकेशन बदल रहे हैं ऐसे में तलाशी के दायरे को बढ़ाया गया है इसके स

वहीं रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह आज यानी २७ दिसंबर को राजौरी पुंछ का दौरा कर सकते हैं उनके सुबह ११ बजे पुंछ में पहुंचने की संभावना है इस दौरान वे सेना के उच्च अधिकारियों के साथ साथ जवानों से मुलाकात कर उनका मनोबल बढाएंगे साथ ही इलाके में चल रहे आतंक विरोधी अभियान का जायज़ा भी लेंगे सूत्रों के मुताबिक जवानों से मुलाकात के बाद रक्षा मंत्री जम्मू में एक उच्च स्तरीय सिक्योरिटी रिव्यू मीटिंग भी कर सकते हैं रक्षा मंत्री के पहुंचने से पहले २५ दिसंबर को आर्मी चीफ जनरल मनोज पांडे जम्मू में पहुंचे हुए हैं उन्होंने राजौरी पुंछ का दौरा कर वहां के सुरक्षा हालातों का जायज़ा लिया था (इलाके में करीब ३० आतंकी सक्रिय) 

जानकारी के मुताबिक राजौरी पुंछ में अभी भी २५ से लेकर ३० आतंकी एक्टिव हैं जिन्हें पाकिस्तान की ओर से हथियारों और दूसरी रसद की सप्लाई मिल रही है पाकिस्तान के इशारे पर उन्हीं आतंकियों ने २० दिसंबर को सेना के काफिले पर हमला किया जिसमें ४ जवानों की शहादत हो गई हमले के बाद वे आतंकी घने जंगलों में छिप गए हैं (उठाए जा सकते हैं बड़े कदम) उन आतंकियों के खात्मे के लिए सेना ने इलाके में बड़ा अभियान छेड़ रखा है ऐसे में पहले आर्मी चीफ और अब रक्षा मंत्री का जम्मू में आना काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है माना जा रहा है कि आने वाले दिनों में पाकिस्तान को सबक सिखाने के लिए सेना की ओर से कड़ा कदम उठाया जा सकता है साथ ही इलाके से आतंकियों को खत्म करने का अभियान भी तेज हो सकता है


लोगसत्ता न्यूज
Anilkumar Upadhyay