मुंबई : वेस्टर्न एक्सप्रेस की यातायात समस्या में २५ फीसदी की होगी कमी

मुंबई : वेस्टर्न एक्सप्रेस की यातायात समस्या में २५ फीसदी की होगी कमी

मुंबई : वेस्टर्न एक्सप्रेस हाईवे से यात्रा करनेवाले यात्रियों को कल महाविकास आघाड़ी सरकार ने एक और मेट्रो सेवा की नई सौगात दी। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कल हरी झंडी दिखाकर मेट्रो ट्रायल रन की शुरुआत की। ट्रायल रन का सफल परीक्षण हो जाने के बाद अक्टूबर से आम मुंबईकरों के लिए मेट्रो-२ ए और ७ का दरवाजा खोल दिया जाएगा। इससे वेस्टर्न एक्सप्रेस हाई-वे पर ट्रैफिक का भार कम हो जाएगा। या यूं कहें तो हाईवे हल्का हो जाएगा। वेस्टर्न एक्सप्रेस हाईवे की २५ फीसदी ट्रैफिक मेट्रो में शिफ्ट हो जाएगी। दरअसल ट्रायल रन पूरा होने के बाद अक्टूबर से मेट्रो आम मुंबईकरों की सेवा के लिए शुरू हो जाएगी।

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे द्वारा कल हरी झंडी दिखाने के बाद मेट्रो-२ ए (येलो लाइन) और मेट्रो-७ (रेड लाइन) रूट का ट्रायल रन शुरू हो गया। मेट्रो के ६ प्रोटोटाइप कोच से अलग-अलग स्पीड से ट्रायल रन किया जाएगा। एमएमआरडीए की योजना दोनों लाइन को दो चरणों में पूरा करने की है। मेट्रो-२ ए और मेट्रो-७ सेवा को दो चरणों में शुरू करने की एमएमआरडीए की योजना है। पहले चरण के तहत अक्टूबर २०२१ में २० किमी रूट पर चारकोप डिपो-दहानुकरवाड़ी से आरे तक शुरू हो जाएगी जबकि शेष लाइन दूसरे चरण के तहत नए वर्ष जनवरी २०२२ में पूरी तरह से शुरू हो जाएगी, जोकि ३५ किमी की होगी।


लोगसत्ता न्यूज
Anilkumar Upadhyay