एशिया की सबसे बड़ी झोपड़पट्टी धारावी में जीरो हुआ कोरोना

एशिया की सबसे बड़ी झोपड़पट्टी धारावी में जीरो हुआ कोरोना

मुंबई, महानगर में पहली लहर की तरह अब दूसरी लहर में भी कोरोना दम तोड़ता जा रहा है। दो दिन पहले जहां धारावी में कोरोना का एक मरीज मिला था तो वहीं कल माहिम में एक भी मरीज नहीं मिला है। इससे पहले माहिम में ४ महीने १० दिन पहले शून्य मरीज मिला था। उसी दिन एशिया की सबसे बड़ी झोपड़पट्टी धारावी में भी शून्य मरीज मिला था।
मुंबई का हार्ट कहे जानेवाले दादर, सायन, धारावी और माहिम इलाके में कोरोना की दूसरी लहर पर भी मनपा ने पूरी तरह कंट्रोल कर लिया है। रविवार को आई रिपोर्ट के अनुसार माहिम में एक भी मरीज नहीं मिले, धारावी में २ मरीज मिले तो दादर में १० मरीज मिले हैं।
दादर में फिलहाल १६० एक्टिव मरीज हैं तो माहिम में १३९ और धारावी में १३ एक्टिव मरीज बचे हैं। इससे बेहतर परिणाम इसी वर्ष २ फरवरी को यहां देखने को मिला था, तब धारावी और माहिम में एक भी मरीज नहीं मिले थे और दादर में ७ मरीज मिले थे। तब कुल मरीजों की संख्या दादर में ४,९३१, धारावी में ३,९३० और माहिम में ४,७९१ थी। अब तक दादर में ९,५५४, धारावी में ६,८६१ और माहिम में ९,८७० मरीज मिले हैं। यहां ठीक होनेवाले मरीजों की संख्या क्रमश: ९,२१०, ६,४८९ और ९,५२९ है।
मनपा जी नॉर्थ वॉर्ड के अधिकारी किरण दिघावकर ने कहा कि यह राहतभरी खबर है। लोगों के सहयोग और हमारी टीम के मेहनत के चलते यह परिणाम आया है। हमारा प्रयास है कि एक सप्ताह के भीतर तीनों क्षेत्र में मरीजों का आंकड़ा शून्य हो।


लोगसत्ता न्यूज
Anilkumar Upadhyay