मरीजों की संख्या घटने पर ही सभी के लिए लोकल सेवा शुरू करने पर विचार - महापौर किशोरी पेंडणेकर

मरीजों की संख्या घटने पर ही सभी के लिए लोकल सेवा शुरू करने पर विचार - महापौर किशोरी पेंडणेकर

मुंबई : मुंबई मनपा मुंबई में कोरोना मरीजों की संख्या कम करने के प्रयास कर रही है। हमें सफलता मिल रही है, लेकिन खतरा टला नहीं है। हालांकि दूसरी लहर को नियंत्रित किया जा रहा है, लेकिन तीसरी लहर ज्यादा खतरनाक होगी, ऐसा विशेषज्ञों का कहना है। ऐसे में मुंबई मनपा टीकाकरण में तेजी ला रही है। अब जब लोकल शुरू करने की बात आती है, तो अभी भी पांच से छह सौ कोरोना रोगी मिल रहे हैं। इसलिए मरीजों की संख्या घटती है तो लोकल सबके लिए शुरू हो सकती है। यह बात मुंबई की महापौर किशोरी पेंडणेकर ने कही। महापौर ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि फर्जी टीकाकरण पर अंकुश लगाने के लिए हर वार्ड में दो टीमें काम कर रही है। इस बात पर फोकस है कि कौन सा अस्पताल काम कर रहा है और कैसे। हम सारी जानकारी रख रहे हैं। सिरम को भी पत्र दिए गए हैं और उससे स्पष्टीकरण भी मांगा गया है। मनपा व पुलिस जांच कर रही है। कांदिवली में टीकाकरण मामले के बाद से लोग डरे हुए हैं और सतर्क हो गए हैं। महापौर ने बताया कि टीकाकरण अब सोमवार, मंगलवार और बुधवार को शत-प्रतिशत वॉक-इन होगा। तीसरी लहर को रोकने के प्रयास जारी हैं। केंद्र को राज्य को टीकों की आपूर्ति करनी चाहिए। हम कह रहे हैं कि राज्य मनपा को वैक्सीन देगा। हम सोमवार से मुंबईकरों को मुफ्त टीके उपलब्ध कराएंगे। तीसरी लहर भयानक हो सकती है। हालांकि टीकाकरण में विराम लग गया है, लेकिन अब यह कोई समस्या नहीं होगी। मुंबई एक अंतरराष्ट्रीय शहर है। दूर-दूर से लोग यहां आते हैं। मुंबई में कोरोना संकट कम हुआ है, लेकिन खत्म नहीं हुआ है। कोरोना मरीजों की संख्या घट रही है, लेकिन खतरा बना हुआ है। 



लोगसत्ता न्यूज
Anilkumar Upadhyay