मनपा लेगी आईआईटी की मदद वार्ड वॉर रूम की कार्यप्रणाली पर अध्ययन

मनपा लेगी आईआईटी की मदद वार्ड वॉर रूम की कार्यप्रणाली पर अध्ययन

मुंबई, कोरोना की तीसरी लहर आने की आशंका विशेषज्ञों ने जताई है। इस आशंका के मद्देनजर इस लहर से निपटने के लिए मनपा अपनी तैयारी में जुट गई है। पहली और दूसरी लहर की तरह मनपा तीसरी लहर से जंग नए मॉडल के संग करेगी। इसके लिए मनपा आईआईटी मुंबई की मदद ले रही है। पहली लहर में मरीजों को सुविधा देने के लिए मनपा ने वार्ड वॉर रूम का गठन किया था। तीसरी लहर को रोकने के लिए मनपा वार्ड वॉर रूम को स्टैंडर्ड बनाने जा रही है। इसके साथ ही वंâटेनमेंट जोन नीति में बदलाव करने पर भी मनपा विचार कर रही है। इस नए मॉडल के लिए अध्ययन कर आईआईटी मुंबई अपनी रिपोर्ट मनपा को एक महीने में सौंपेगी, जिसके आधार पर मनपा वार्ड वॉर रूम और वंâटेनमेंट जोन नीति में संशोधन कर इसे तीसरी लहर को रोकने में कारगर बनाएगी।
बता दें कि कोरोना की पहली और दूसरी लहर को नियंत्रित करने में मनपा सफल रही है। इन लहरों को नियंत्रित करने के लिए कार्यप्रणाली के नए-नए मॉडल बनाए गए थे। इन मॉडलों की सफलता के साथ मनपा तीसरी संभावित लहर को रोकने में जुटी हुई है।
अतिरिक्त मनपा आयुक्त सुरेश काकाणी ने ‘दोपहर का सामना’ को बताया कि मनपा के वॉर रूम के पूरे सिस्टम को अपडेट करने की योजना है। जैसे-जैसे कोरोना का नया वैरिएंट सामने आ रहा है, हमें भी उसी अनुसार अपने सिस्टम में सुधार करने की आवश्यकता है। मुंबई आईआईटी की टीम को हमने संपर्वâ कर अध्ययन करने को कहा है। काकाणी ने बताया कि इससे दो बातें होंगी एक तो हमें वॉर रूम को बेहतर बनाने के मौका मिलेगा, दूसरा यह कि एक तीसरी संस्था की ओर से प्रमाणित होगा। कोरोना की लड़ाई में मनपा के सक्सेज मॉडल में एक भाग वॉर रूम भी है। कोरोना की पहली और दूसरी लहर को मात देने में अहम भूमिका निभा चुके वॉर रूम को अब नए सिरे से ‘नए मॉडल’ में तैयार किया जाएगा।


लोगसत्ता न्यूज
Anilkumar Upadhyay