मुंबई की बैंक के सर्वर हैकिंग मामले में ग्‍वालियर से तीन गिरफ्तार

मुंबई की बैंक के सर्वर हैकिंग मामले में ग्‍वालियर से तीन गिरफ्तार

मुंबई, अगस्त में दो दिन के सरकारी अवकाश में मुंबई स्थित बैंक आफ बहरीन आफ कुवैत का सर्वर हैक कर साढ़े पांच करोड़ रुपये उड़ाने वाले नाइजीरिया के अंतराष्ट्रीय ठग मार्टिन के रैकेट से जुड़े तीन युवकों को पुलिस ने ग्वालियर से गिरफ्तार किया है। ये कार्रवाई मुंबई क्राइम ब्रांच की सूचना पर की गई है। तीनों आरोपित मुरार वंशीपुरा के हैं। आरोपित में एक कोचिंग संचालक और दो उसके छात्र हैं। यह तीनों आरोपित इस रैकेट से शहर के एक अन्य युवक की मदद से जुड़े थे। इन तीनों का काम स्थानीय युवकों का खाता नंबर लेकर इस रैकेट तक पहुंचाना होता था। इसके अलावा इनके खातों में पैसा भी ट्रांसफर हुआ था। इनका काम खाताधारक से उक्त राशि को निकालकर रैकेट तक पहुंचाना होता था। इसके एवज में इनके अलावा खाताधारक को भी तीन से चार हजार रुपये कमीशन मिलता था। यह राशि 40 से 50 हजार रुपये होती थी। मुंबई क्राइम ब्रांच इनके चौथे साथी की तलाश कर रही है।
मुंबई क्राइम ब्रांच के अधिकारियों ने शुक्रवार की सुबह एसपी अमित सांघी से मुलाकात कर बताया कि मुंबई में स्थित बैंक आफ बहरीन आफ कुवैत का सर्वर 14, 15 अगस्त को हैक किया गया था। हैकर ने बैंक के साढ़े पांच करोड़ रुपये उड़ा दिए। हैकर्स ने सर्वर से जुड़े मोबाइल नंबर भी बदल दिए थे। बैंक का दो दिन अवकाश होने के कारण बैंक अधिकारियों को सर्वर हैक होने की खबर तक नहीं लगी। 16 अगस्त को बैंक खुलने पर सर्वर हैक होने का पता बैंक अधिकारियों को लगा। इस मामले की जांच मुंबई क्राइम ब्रांच को दी गई। पड़ताल में पता चला कि बैक का सर्वर हैक नाइजीरियन ठग मार्टिन ने किया था। इसके बाद पिछले 17 दिन में अलग-अलग 87 बैंक खाताें में पैसा ट्रांसफर कर निकाला गया है। इस संबंध में मुंबई क्राइम ब्रांच का मेल एसपी अमित सांघी के पास भी आया था।
दिल्ली के समीर को पकड़कर मुंबई क्राइम ब्रांच ग्वालियर तक पहुंचीः मुंबई क्राइम ब्रांच ने अंतर्राष्ट्रीय आन लाइन ठग मार्टिन के रैकेट से जुड़े समीर को दिल्ली से पकड़ा। समीर भी दिल्ली में कोचिंग चलाता है। समीर से पूछताछ करने पर ग्वालियर के एक युुवक का नाम पता चला(यह युवक पकड़ में नहीं आया इसलिए पुलिस ने इसका नाम सार्वजनिक नहीं किया)। फरार आरोपित के तीन पते पता चले है। यह तीनों पते किराये के मकान के हैं। इस युवक के माध्यम से मुरार में कोचिंग संचालक रवि राजे रैकेट से जुड़ा। रवि वंशीपुरा का निवासी है और धीरज सर के नाम से अंग्रेजी की क्लास लेता है। मुंबई क्राइम ब्रांच की टीम दिल्ली से सीधी गुरुवार की रात को ग्वालियर आई। एसपी अमित सांघी से संपर्क कर मदद मांगी। एसपी ने एएसपी (शहर पूर्व)राजेश दंडोतिया के निर्देशन में सीएसपी रत्नेश तोमर व सिरौल थाना प्रभारी गजेंद्र सिंह धाकड़ के नेतृत्व में टीम गठित की गई। पुलिस ने कोचिंग संचालक रवि राजे, उसके छात्र प्रभांशु जाटव व दिनेश जाटव निवासी वंशीपुरा को गिरफ्तार कर लिया है।



लोगसत्ता न्यूज
Anilkumar Upadhyay