फायर बाइक: झोपड़पट्टियों में अंदर घुसकर आग बुझाएगी

फायर बाइक: झोपड़पट्टियों में अंदर घुसकर आग बुझाएगी

मुंबई। आग की घटनाएं मुंबई में दिन प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। संकरी गलियों और झोपड़पट्टी में दमकल गाड़ियां जाना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन साबित होता है। इसी तरह कई संकरी चालियों में भी यही हालत होती है। पुरानी चालियों में दमकल विभाग की गाड़ियां नहीं जा पाती हैं। दमकल विभाग ने संकरी गलियों में घटनास्थल तक पहुंच कर आग को फैलने से रोकने के लिए दो पहिया वाहन फायर बाइक के रूप में लिया है। आग बुझाने के लिए हाई तकनीकि से सुसज्जित एक फायर बाइक पर मनपा प्रशासन ने लगभग 13 लाख रुपए खर्च किया है।
उल्लेखनीय है कि देश की आर्थिक राजधानी के  रूप में जाना जाने वाली मुंबई में एशिया की सबसे बड़ी झोपड़ पट्टी भी है। सकरी गलियों वाली चालियों एवं झोपड़ पट्टीयों में आग लगने पर दमकल विभाग का आग बुझाने में पसीने छूट जाते हैं। कई बार घन्टों मसक्कत के बाद भी जन हानि हो जाने की संभावना बनी रहती है। मुंबई में 55 प्रतिशत रहिवासी झोपड़ पट्टी में ही रहते हैं। झोपड़ पट्टी एवं संकरी गलियों में आग लगने की घटना होने पर दमकल जवानों के पसीने छूट जाते हैं। उसमे ट्रैफिक की समस्या दमकल विभाग के लिए और परेशानी खड़ी कर देते हैं। दमकल विभाग ने इसी तरह की समस्या से निपटने के लिए दो पहिया वाहन बाइक का सहारा लेने का निर्णय लिया है, जिससे आग की घटना होने पर इस तरह के स्थानों पर तत्काल पहुंचा जा सके और आग को फैलने पर रोंका जा सके। मनपा ने दोपहिया बाइक, जिसमे आग बुझाने की सभी पानी सहित अन्य सामग्री उपलब्ध है उसे 13 लाख रुपए में खरीदा है। जिसका उपयोग अब संकरी गलियों सहित झोपड़ पट्टी में आग लगने पर आग बुझाने में किया जा सकेगा।


लोगसत्ता न्यूज
Anilkumar Upadhyay