नेपाल-बांग्लादेश में बेचते हैं मुंबई के मोबाइल, मोबाइल चोरों से जुड़ी एक सनसनीखेज जानकारी

नेपाल-बांग्लादेश में बेचते हैं मुंबई के मोबाइल, मोबाइल चोरों से जुड़ी एक सनसनीखेज जानकारी


मुंबई, मुंबई की लाइफलाइन कही जानेवाली लोकल ट्रेनों में सफर करनेवाले यात्रियों को मोबाइल चोरों से बचाना रेलवे पुलिस के लिए सबसे बड़ी चुनौती बन गई है। अब तक मोबाइल चोरी को आम समस्या समझा जाता था लेकिन अब मोबाइल चोरों से जुड़ी एक सनसनीखेज जानकारी सामने आई है। मुंबई पुलिस क्राइम ब्रांच की यूनिट-६ की जांच में पता चला है कि मुंबई की लोकल ट्रेनों, बेस्ट बसों एवं दूसरी सार्वजनिक परिवहन सेवाओं में यात्रियों के मोबाइल फोन पर हाथ साफ करनेवाले गिरोह चोरी के मोबाइल फोनों को नेपाल और बांग्लादेश में बेचते हैं। इस जानकारी के बाद पुलिस अब ये जानने का प्रयास कर रही है कि कहीं इन चोरी के मोबाइल फोनों का इस्तेमाल राष्ट्र विरोधी ताकतें तो नहीं कर रही हैं।
बता दें कि मुंबई पुलिस की क्राइम ब्रांच यूनिट ६ ने मोबाइल चोरों के एक बड़े गिरोह का पर्दाफाश किया है। बताया जा रहा है कि मुंबई के उपनगरों में मोबाइल चोरों के बढ़ते आतंक को देखते हुए डीसीपी दत्ता नलावडे ने अपने मातहत अधिकारियों को मोबाइल चोरों पर लगाम लगाने का निर्देश दिया था, जिसके बाद यूनिट ६ की टीम ने ४ मोबाइल चोरों को गिरफ्तार किया है।
छानबीन के दौरान पुलिस को पता चला कि गोवंडी के बैगन वाड़ी स्थित कांजुल इमाम मस्जिद के पास रहनेवाले कुछ मोबाइल चोर मुंबई की लोकल ट्रेनों व बसों में यात्रियों का मोबाइल फोन चुराते हैं। उक्त गिरोह चोरी के मोबाइल फोन का आईएमईआई नंबर बदल कर उसे बांग्लादेश, नेपाल तथा अन्य देशों में भेजता है। इस गिरोह के सदस्यों की पुलिस ने तलाश शुरू की तो वे आगरा, कोलकता, नई दिल्ली, बांग्लादेश आदि इलाकों में फरार हो गए। यूनिट ६ की टीम ने गिरोह के मुखिया को दिल्ली से दबोचा तथा उसकी निशानदेही पर उसके तीन अन्य साथियों को भी गिरफ्तार किया। गिरोह के लोगों से कुल २४८ मोबाइल फोन बरामद हुए हैं।


लोगसत्ता न्यूज
Anilkumar Upadhyay