वाजे, शिंदे और पलांडे को 11 अप्रैल तक सीबीआई की हिरासत

वाजे, शिंदे और पलांडे को 11 अप्रैल तक सीबीआई की हिरासत

मुंबई, राकांपा नेता व महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख के खिलाफ दर्ज भ्रष्टाचार के मामले में एक विशेष अदालत ने बर्खास्त पुलिसकर्मी सचिन वाजे और देशमुख के दो पूर्व सहयोगियों को 11 अप्रैल तक सीबीआई की हिरासत में भेज दिया।
केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) ने सोमवार को मामले में वाजे, संजीव पलांडे और कुंदन शिंदे को गिरफ्तार किया, लेकिन देशमुख को गिरफ्तार नहीं कर सकी क्योंकि वह सरकारी जेजे अस्पताल में भर्ती हैं।
हिरासत के लिए दिए गए आवेदन में, सीबीआई ने “गहरी साजिश का पता लगाने के वास्ते” पूछताछ के उद्देश्य से आरोपियों की हिरासत मांगी और कहा कि आरोपी व्यक्तियों को दिल्ली में एजेंसी के मुख्यालय में ले जाना पड़ सकता है जहां उनसे वैज्ञानिक पूछताछ की जा सकती है।
सीबीआई की एक विशेष अदालत ने वाजे, शिंदे और पलांडे को 11 अप्रैल तक सीबीआई की हिरासत में भेज दिया, लेकिन देशमुख पर कोई आदेश पारित करने से इनकार करते हुए कहा कि जांच अधिकारी को पहले यह दिखाना होगा कि उन्होंने पूर्व मंत्री के स्वास्थ्य के बारे में पता लगाने के लिए क्या प्रयास किए हैं।
हिरासत के लिए अपने आवेदन में एजेंसी ने आरोप लगाया कि देशमुख ने “इरातदन और जानबूझकर” “सीबीआई हिरासत से बचने एवं जांच को विफल करने के लिए” खुद को चार अप्रैल को अस्पताल में भर्ती करा लिया।

 


लोगसत्ता न्यूज
Anilkumar Upadhyay