कल्याण और शील फाटा जंक्शन पर बनेंगे फ्लाइओवर और अंडरपास

कल्याण और शील फाटा जंक्शन पर बनेंगे फ्लाइओवर और अंडरपास

ठाणे : कल्याण और शील फाटा पर इन दिनों हैवी ट्रैफिक से कार चालक त्रस्त हैं। इसके चलते मिनटों की दूरी तय करने में घंटों का वक्त लग जाता है। पर आनेवाले दिनों में इस समस्या को दूर करने के उपाय किए जा रहे हैं। इससे कल्याण का कायाकल्प हो जाएगा। यहां पर इस समस्या से निपटने के लिए दो फ्लाइओवर के निर्माण की परियोजना बनाई गई है। इस फ्लाइओवर का प्लान एमएमआरडीए ने तैयार किया है। इस प्लान के अनुसार शील फाटा और कल्याण फाटा जंक्शन पर दो फ्लाइओवर और एक अंडरपास बनाया जाएगा। एमएमआरडीए अधिकारियों की मानें तो शील फाटा और कल्याण फाटा के ट्रैफिक को समाप्त करने के लिए दोनों जगह पर दो फ्लाइओवर बनाने तथा एक अंडरपास पास बनाने का निर्णय लिया गया है। दोनों फ्लाईओवर और अंडरपास का काम पूर्ण होने से ट्रैफिक समस्या का समाधान शत-प्रतिशत होगा, ऐसा अधिकारियों का मानना है। जल्द ही इन परियोजनाओं का भूमिपूजन किया जाएगा।
शील फाटा जंक्शन व कल्याण फाटा जंक्शन पर दो फ्लाइओवर व एक अंडरपास तैयार करने के लिए एमएमआरडीए ने कुल १९१.१७ करोड़ रुपए का बजट निर्धारित किया है। दो फ्लाइओवर व एक अंडरपास के लिए उक्त खर्च एमएमआरडीए ने निश्चित किया है। उक्त खर्च आम जनता की सुविधाओं को ध्यान में रखकर किया जाएगा।
रोजाना वाहनों की संख्या को ध्यान में रखकर एमएमआरडीए ने प्लान तैयार किया है। प्लान के तहत शील फाटा जंक्शन पर फ्लाइओवर की लंबाई ७३९.५० मीटर और चौड़ाई २४.०० मीटर होगी। वहीं, कल्याण फाटा जंक्शन फ्लाइओवर की लंबाई १,३६७.४७ और चौड़ाई १२.०० मीटर होगी।
कल्याण फाटा जंक्शन पर बनाया जानेवाला फ्लाइओवर कल्याण-डोंबिवली की ओर से महापे के रास्ते मुंबई तक आनेवाले यात्रियों को ट्रैफिक मुक्त यातायात मुहैया कराने का काम करेगा। वहीं अंडरपास के जरिए जेएनपीटी से आनेवाले बड़े कंटेनर को गुजरात की ओर जाने के लिए ट्रैफिक मुक्त यातायात मुहैया करवाएगा। उसी प्रकार शील फाटा का फ्लाईओवर जेएनपीटी से आनेवाले और दिवागांव से आनेवाले यात्रियों को ट्रैफिक मुक्त आवाजाही मुहैया कराएगा।
दो फ्लाइओवर व एक अंडरपास के लिए बहुत समय लगता है लेकिन एमएमआरडीए द्वारा तैयार किए गए प्लान के अनुसार कल्याण फाटा व शील फाटा पर दो फ्लाइओवर सहित एक अंडरपास तैयार करने और पूर्ण करने के लिए अप्रैल वर्ष २०२३ तक का समय लगनेवाला है।


लोगसत्ता न्यूज
Anilkumar Upadhyay