एसटी के इतिहास में सबसे बड़ी ७,२०० रुपए की वृद्धि

एसटी के इतिहास में सबसे बड़ी ७,२०० रुपए की वृद्धि

मुंबई, एसटी महामंडल को राज्य सरकार में विलीन करने की मांग को लेकर बेमियादी हड़ताल पर गए एसटी कर्मचारियों को परिवहन मंत्री व एसटी महामंडल के अध्यक्ष एडवोकेट अनिल परब ने बहुत बड़ी राहत दी है। परिवहन मंत्री ने एसटी कर्मचारियों के वेतन में ७,२०० रुपए वृद्धि करने की घोषणा की है। उन्होंने एसटी कर्मचारियों से हड़ताल खत्म करने का आह्वान किया है।
एसटी के इतिहास में यह अब तक की सबसे बड़ी वेतन वृद्धि बताई जा रही है। कर्मचारियों के हर महीने वेतन की गारंटी राज्य सरकार लेगी। बस चालकों, कंडक्टर, तकनीकी कर्मचारियों और लिपिकों के मूल वेतन में ३,६०० से लेकर ७,२०० रुपए तक की बढ़ोतरी की गई है। ‌कल प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए अनिल परब ने बताया कि राज्य सरकार ने कर्मचारियों को हर महीने की १० तारीख तक वेतन देने की गारंटी ली है। लिहाजा कर्मचारियों को तुरंत हड़ताल वापस लेकर काम पर लौट आना चाहिए। ‌माननीय न्यायालय ने कर्मचारियों के विलय के मामले को देखने के लिए एक समिति नियुक्त की है। समिति को अपनी रिपोर्ट सौंपने के लिए १२ सप्ताह का समय दिया गया है। इस बीच जनता को परेशानी न हो इसलिए सरकार ने वेतन बढ़ाने का पैâसला किया है। कमेटी की रिपोर्ट पर सरकार सकारात्मक पैâसला लेगी।


लोगसत्ता न्यूज
Anilkumar Upadhyay