मिनी बसों के ठेकेदारों को कड़ी चेतावनी, बेस्ट ने लिया कड़क एक्शन

मिनी बसों के ठेकेदारों को कड़ी चेतावनी, बेस्ट ने लिया कड़क एक्शन

मुंबई, पिछले महीने ही बेस्ट खेमे में मिनी बसों के कर्मचारियों ने वेतन नहीं मिलने की वजह से आंदोलन किया था। इसके बाद बेस्ट ने मिनी बसों के ठेकेदारों को कड़ी चेतावनी दी थी। इसके पश्चात कर्मचारियों को वेतन मिला और वे काम पर लौटे। लेकिन इस महीने फिर वही समस्या होने की वजह से यह मामला फिर से गरमा गया है। सोमवार से बेस्ट के मिनी बसों के कर्मचारियों ने पुन: आंदोलन शुरू कर दिया। वेतन समय पर नहीं मिलने की वजह से मिनी बसों के ज्यादातर कर्मचारी काम पर नहीं लौटे हैं। जो कर्मचारी काम पर लौटे हैं, वे लोग काली पट्टी बांधकर अपना रोष व्यक्त कर रहे हैं।इससे आम जनता को यातयात व्यवस्था में विघ्न पड़ने से काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। अब मनपा ने मुंबईकरों की समस्या को देखते हुए ठेकेदारों को नापते हुए कड़ा एक्शन लिया है। इसके तहत मंगलवार को सड़क पर नहीं चलनेवाली हर मिनी बस के लिए मनपा ने ५ हजार रुपए का दंड ठेकेदारों पर लगाया है। बेस्ट विभाग के अनुसार वेतन की समस्या के चलते कई ठिकानों पर मिनी बसों के कर्मचारी काम पर नहीं आए। इसके चलते मुंबई के कुल डिपो पर १६३ मिनी बसें नहीं निकल पाई। लोगों की यातयात समस्या को देखते हुए बेस्ट की ओर से ९४ बसें चलाई गई। जहां जैसी स्थिति देखी गई, वहां उतनी संख्या में बसें प्रदान की गई। एक अन्य अधिकारी ने बताया कि दोषी ठेकेदारों पर कार्रवाई की गई है। अधिकारी के अनुसार बेस्ट के साथ मिनी बसों के ठेकेदारों का अनुबंध है। उन्हें परस्पर ड्राइवर और कंडक्टर उपलब्ध कराना होगा। यदि ऐसा नहीं हुआ तो ठेकेदार कंपनी पर प्रत्येक बस के लिए हर दिन ५ हजार रुपए दंड वसूल किया जाएगा। इसी शर्त के अनुसार कंपनी पर यह दंड लगाया गया है। साथ ही कंपनी को सख्त चेतावनी दी गई है। बता दें पिछले कुछ महीनों से बेस्ट कर्मचारियों के वेतन में हो रही गड़बड़ी के चलते उनमें काफी नाराजगी है। इसके पहले महीने में कर्मचारियों ने आंदोलन किया था। तब उन्हें कुछ रकम देकर काम पर लौटने को कहा गया था। अब इस महीने भी उन्हें वेतन समय पर नहीं मिलने से वे फिर नाराज हो गए हैं और आंदोलन शुरू कर दिया है।


लोगसत्ता न्यूज
Anilkumar Upadhyay