कोरोना के नए वैरिएंट डेल्टा प्लस से घबराने की जरूरत नहीं

कोरोना के नए वैरिएंट डेल्टा प्लस से घबराने की जरूरत नहीं

मुंबई, कोरोना के नए वैरिएंट ‘डेल्टा प्लस’ के कारण कोरोना की तीसरी लहर आने की संभावना विशेषज्ञों द्वारा व्यक्त की गई है। हालांकि स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने राज्य की जनता को भरोसा दिलाया है कि कोरोना के नए वैरिएंट से घबराने की जरूरत नहीं है। इस वायरस को टीके से कड़ी टक्कर दी जा सकती है। यदि ७०³ टीकाकरण का काम पूरा कर लिया जाए तो तीसरी लहर को रोका जा सकता है।
स्वास्थ मंत्री टोपे ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि ‘डेल्टा प्लस’ को लेकर कई तर्वâ-वितर्वâ निकाले जा रहे हैं। राज्य सरकार के पास जो ऑथेंटिक डेटा है, उसके आधार पर कहा जा सकता है कि ज्यादा चिंता करने की जरूरत नहीं है। राज्य में ‘डेल्टा प्लस’ वैरिएंट के जो भी मरीज मिले हैं, उनमें से केवल एक वृद्ध महिला की मृत्यु हुई है। अभी ऐसा नहीं कहा जा सकता कि मृत्यु का कारण ‘डेल्टा प्लस’ ही है, इसकी अन्य वजह भी हो सकती है।
स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि तीसरी लहर की संभावना व्यक्त की जा रही है लेकिन तीसरी लहर जब आएगी, तब आएगी। यदि ७०³ टीकाकरण कर दिया गया, उसका उतना परिणाम नहीं होगा। टीकाकरण करके शत-प्रतिशत तीसरी लहर को रोका जा सकता है। गौरतलब हो कि ‘डेल्टा प्लस’ ने महाराष्ट्र सहित पूरे विश्व में दहशत पैâला रखी है। देश में कोरोना के नए वैरिएंट ‘डेल्टा प्लस’ से संक्रमित ५१ मरीज मिले हैं, इनमें से २१ मरीज महाराष्ट्र से हैं। एक बुजुर्ग महिला की मृत्यु को छोड़ दें तो महाराष्ट्र के सभी मरीज ठीक होकर घर गए हैं।


लोगसत्ता न्यूज
Anilkumar Upadhyay