मुंबई में पानी संकट पर महापौर किशोरी पेडणेकर ने जताई नाराजगी, तीन दिनों में रिपोर्ट मांगी

मुंबई में पानी संकट पर महापौर किशोरी पेडणेकर ने जताई नाराजगी, तीन दिनों में रिपोर्ट मांगी

मुंबई : दीपावली त्योहार से पहले मुंबई में जानबूझकर खड़ा किए पानी संकट पर महापौर किशोरी पेडणेकर ने बीएमसी जल विभाग की कार्य प्रणाली पर नाराजगी जताई।  पेडणेकर ने बीएमसी से तीन दिनों में रिपोर्ट मांगी है।  महापौर पेडणेकर ने कहा कि मैंने जल विभाग के चीफ इंजीनियर अजय राठौड से बात कर पूरे मामले की जांच कर रिपोर्ट देने को कहा है। इस मामले में जो भी अधिकारी दोषी हैं उनकी पहचान कर  उनके खिलाफ कार्रवाई का आदेश दिया है।  
दीपावली के अवसर पर आयोजित स्नेह सम्मेलन में पेडणेकर ने कहा कि हमने बीएमसी कमिश्नर इकबाल सिंह चहल से भी इस मुद्दे पर बात कर नाराजगी जताई है।  उन्हें नगरसेवकों की भावनाओं से उन्हें अवगत कराया है।  हमने बीएमसी को निर्देश दिया है कि जहां पानी की समस्या है उसे जल्द ठीक करें।  त्योहारों के अवसर पर पानी कटौती नहीं होनी चाहिए।  दिवाली के बाद बीएमसी को पाइपलाइन  की मरम्मत या अन्य कोई कार्य हो  उसकी जानकारी मुंबईकरों को 15 दिन पहले दें। उन्होंने कहा कि स्थायी समिति में सभी दलों के नगरसेवकों ने पानी की समस्या उठाई थी।  यह प्रशासन की नाकामी है कि उसके खिलाफ स्थगन प्रस्ताव लाया जाता है।  हमें शिकायत मिली है कि कुर्ला, कोलाबा, भांडुप, सायन, घाटकोपर और बोरीवली में जलापूर्ति की बहुत समस्या आ रही है। महापौर के रूप में यह स्वीकार नहीं करूंगी कि जानबूझकर चुनाव के समय पानी कटौती की साजिश रची गई है।


लोगसत्ता न्यूज
Anilkumar Upadhyay