डॉन के इशारे पर रची थी दहलाने की साजिश, अलर्ट पर पुलिस, आरपीएफ और जीआरपी

डॉन के इशारे पर रची थी दहलाने की साजिश, अलर्ट पर पुलिस, आरपीएफ और जीआरपी

मुंबई : दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल द्वारा कई राज्यों में की गई आतंकियों की धरपकड़ से देश ने बड़ी राहत की सांस ली है। इन गिरफ्तार आतंकियों में सायन का रहनेवाला जान मोहम्मद भी शामिल था। जान मोहम्मद ‘डी’ (दाऊद) का डियर (प्रिय) है। एटीएस सूत्रों के मुताबिक डॉन के इशारे पर देश को दहलाने की साजिश रची गई थी। हालांकि इस गिरफ्तारी से आतंकियों की मंशा पूरी तरह से नाकाम हो गई है। जानकारी के मुताबिक वह २० वर्षों से दाऊद के संपर्क में था। महाराष्ट्र आतंकवाद निरोधक दस्ते (एटीएस) प्रमुख विनीत अग्रवाल ने बताया कि मंगलवार को पकड़े गए मुंबई के सायन निवासी संदिग्ध आतंकी जान मोहम्मद अली मोहम्मद शेख उर्फ समीर कालिया पर पायधुनी पुलिस स्टेशन में फायरिंग का मामला दर्ज है। दाऊद के इशारे पर ही इसने फायरिंग की थी इसलिए एटीएस की नजर उस पर हमेशा से थी। यह जानकारी महाराष्ट्र एटीएस दिल्ली पुलिस के साथ साझा करेगी। उन्होंने कहा कि दिल्ली पुलिस के साथ मिलकर आतंकियों पर कठोर कार्रवाई की जाएगी।

दिल्ली पुलिस ने जिन ६ लोगों को गिरफ्तार किया है, उनमें से एक जान मोहम्मद मुंबई का है। महाराष्ट्र एटीएस प्रमुख अग्रवाल ने बताया कि जान मोहम्मद ९ सितंबर को दिल्ली जाना चाहता था, लेकिन उसे टिकट नहीं मिला तो वह १३ सितंबर को तत्काल टिकट लेकर गोल्डेन टेंपल एक्सप्रेस (एस-६, बर्थ क्रमांक २) से दिल्ली (हजरत निजामुद्दीन) जा रहा था। रास्ते में कोटा में दिल्ली पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया। उसके पास से कोई हथियार अथवा विस्फोटक बरामद नहीं हुआ। इस मामले की जांच दिल्ली पुलिस कर रही है। जान मोहम्मद को दिल्ली का टिकट देनेवाले दलाल से भी पूछताछ की जा रही है। महाराष्ट्र एटीएस की टीम आज शाम को दिल्ली जाकर उससे पूछताछ करेगी। अग्रवाल ने बताया कि दिल्ली पुलिस ने यह कार्रवाई सेंट्रल एजेंसी के इनपुट के आधार पर की है। इस मामले में उत्तर प्रदेश, राजस्थान सहित अन्य राज्यों से गिरफ्तारियां हुई हैं।

विनीत अग्रवाल ने बताया कि जान मोहम्मद दिल्ली जा रहा था और रास्ते में उसे पकड़ा गया इसलिए मुंबई समेत पूरे महाराष्ट्र पर खतरा बताना गलत है। जान मोहम्मद के परिवार वालों से पूछताछ की गई है और जो भी इनपुट मिले हैं, एटीएस की टीम उसे दिल्ली पुलिस के साथ साझा करेगी।

उल्लेखनीय है कि दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने मंगलवार को छह संदिग्ध आतंकियों को गिरफ्तार किया था। इनमें से दो संदिग्ध आतंकी पाकिस्तान से ट्रेनिंग लेकर लौटे थे। दिल्ली और महाराष्ट्र समेत कई राज्यों के प्रमुख ठिकाने इनके निशाने पर थे। जिन संदिग्धों को गिरफ्तार किया गया है, उनमें मुंबई निवासी जान मोहम्मद, दिल्ली के जामिया नगर निवासी ओसामा उर्फ सामी, उत्तर प्रदेश के रायबरेली निवासी मूलचंद उर्फ साधु, प्रयागराज निवासी जीशान कमर, बहराइच निवासी मोहम्मद अबू बकर और लखनऊ निवासी मोहम्मद आमिर जावेद हैं। दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट ने सभी छह संदिग्ध आतंकियों को १४ दिनों की पुलिस हिरासत में भेज दिया है।

ठाणे क्राइम ब्रांच उपायुक्त लक्ष्मीकांत पाटील ने बताया कि सुरक्षा व्यवस्था पहले भी तगड़ी थी लेकिन मौजूदा हालात को देखते हुए सभी पुलिस स्टेशनों को अलर्ट पर रखा गया है और सभी पुलिस अधिकारियों को अधिक सतर्कता बरतने का आदेश दिया गया है। ठाणे रेलवे पुलिस के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक जय सिंह ने बताया कि मुंबई की घटना के बाद सुरक्षा व्यवस्था बढ़ा दी गई है। ठाणे रेलवे स्टेशन पर पुलिस को तैनात कर दिया गया है।



लोगसत्ता न्यूज
Anilkumar Upadhyay