भाजपा नेताओं ने दंगे का रचा षड्यंत्र, पैसे भी बांटे - नवाब मलिक

भाजपा नेताओं ने दंगे का रचा षड्यंत्र, पैसे भी बांटे - नवाब मलिक

मुंबई : त्रिपुरा में हुए अत्याचार के विरोध में १२ नवंबर को जिलाधिकारी कार्यालय पर हजारों लोगों ने मोर्चा निकाला था। यह मोर्चा दंगा में रूपांतर हो गया। दुकानों में तोड़फोड़ और कुछ लोगों की पिटाई से शहर में कानून-व्यवस्था की समस्या पैदा हो गई। इसके बाद १३ नवंबर को भाजपा ने अमरावती बंद का आह्वान किया था। इस बंद ने भी हिंसक रूप ले लिया। इसी पृष्ठभूमि में राज्य के अल्पसंख्यक मंत्री नवाब मलिक ने भाजपा पर गंभीर आरोप लगाए हैं। मीडिया से बातचीत करते हुए मलिक ने कहा कि भाजपा ने जान-बूझकर बंद करके दंगे भड़काने का काम किया था। पुलिस ने साजिश को नाकाम कर दिया। राज्य में दंगा भड़काने की साजिश भाजपा की थी, ऐसा आरोप मलिक ने लगाया। राज्य के लोगों ने संयम बनाए रखा। इसलिए राज्य के अन्य हिस्सों में दंगे नहीं हुए। अमरावती के अलावा कहीं कुछ नहीं हुआ। अमरावती में दोनों समुदायों में से किसी में भी कोई दंगा नहीं हुआ। भाजपा नेता अनिल बोंडे ने २ तारीख की रात को दंगा करने की साजिश रची थी। शराब बांटी गई, पैसे बांटे गए और दंगे भड़क उठे। पुलिस जांच में ऐसी जानकारी मिली है। सारे हथियार चले जाने के बाद भाजपा दंगों का राजनीतिकरण कर रही है। भाजपा के लोग कूटनीतिज्ञ हैं इसलिए वे कुछ भी कर सकते हैं, ऐसा मलिक ने कहा।


लोगसत्ता न्यूज
Anilkumar Upadhyay