तीसरी लहर के खतरे की आशंका - उद्धव ठाकरे

तीसरी लहर के खतरे की आशंका - उद्धव ठाकरे

मुंबई : कोरोना की दूसरी लहर अभी थमी नहीं है, उस पर तीसरी लहर के खतरे की आशंका जताई जा रही है। मतलब अपना शत्रु अभी तक पूरी तरह से समाप्त नहीं हुआ है। तीसरी लहर को आने न दें और आ भी गई तो उसकी तीव्रता कम करने की जरूरत है। कोरोना के खिलाफ अगर यह जंग है तो अपने सभी शस्त्रों को तैयार रखना होगा। ऐसे में सभी अस्पताल अपने यंत्र सामग्री का ऑडिट करा लें और पूरी तरह से तैयार रहें, ऐसा आह्वान मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने किया।

कल ‘माझा डॉक्टर’ मेडिकल परिषद को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि कोरोना पूरी तरह से समाप्त नहीं हुआ है। उसे पूरी तरह से खत्म करना होगा, इसके लिए विशेष सावधानियां बरतनी होगी। कोरोना के संकट को हमें पार करके आगे बढ़ना है। देश-दुनिया में क्या चल रहा है, उस पर ध्यान देकर हमें आगे कदम बढ़ाना है। उन्होंने कहा कि राज्य में स्वास्थ्य की सारी सुविधाएं बढ़ाई गई हैं। राज्य में १.२५ लाख बेड बढ़ाए गए हैं और जरूरत पड़ी तो और मेडिकल सुविधाएं बढ़ाई जाएंगी। बेड बढ़ाने के साथ ही ऑक्सीजन की भी आवश्यकता है। मानसूनी बीमारी डेंगू और मलेरिया का भी खतरा बढ़ रहा है, इससे भी हमें निपटना है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मौजूदा समय में राज्य में १२०० से १४०० मीट्रिक टन ऑक्सीजन का उत्पादन हो रहा है। इसमें से औद्योगिक क्षेत्रों को भी ऑक्सीजन की जरूरत पड़ती है। मौजूदा समय में २०० मीट्रिक टन कोरोना मरीजों के लिए और १५० मीट्रिक टन ऑक्सीजन की जरूरत अन्य मरीजों के लिए पड़ रही है। मौजूदा समय में ऑक्सीजन का पर्याप्त भंडारण है। राज्य में ३,००० मीट्रिक टन ऑक्सीजन उत्पादन का लक्ष्य रखा गया है। भविष्य में ऑक्सीजन के नए प्लांट शुरू होंगे।

मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने कहा कि वैक्सीन की पर्याप्त मात्रा में आपूर्ति हो तो टीकाकरण अभियान की गति और बढ़ाई जा सकती है। महाराष्ट्र टीकाकरण में अव्वल है। कोरोना और टीकाकरण के मामले में जागरूकता पैâलाने की जरूरत है। विश्वभर में कोरोना की तीसरी लहर का खतरा बढ़ रहा है। कोरोना की तीसरी लहर को भगाना है या आने देना है। इस पर जनता प्रतिसाद दे। वैक्सीन की दो खुराक लेने के बाद भी कोरोना का संक्रमण हो सकता है। वैक्सीन ढाल है, जिससे जोखिम कम है। मास्क लगाना अनिवार्य है। सामाजिक और राजनीतिक आयोजनों में भीड़भाड़ न हो और कोरोना नियमों का सख्ती से पालन किया जाए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि डेल्टा वायरस पूरे विश्व में पैâल रहा है। विश्व भर में कोरोना की तीसरी लहर का खतरा है। हमें राज्य में कोरोना वायरस को शून्य पर लाना है इसलिए आप सभी लोगों का योगदान जरूरी है। स्वास्थ्य सुविधाओं में हम कहीं कम नहीं हैं। उन्होंने दावा किया कि जिन सुविधाएं की व्यवस्था हमने की है वह किसी भी देश से कम नहीं है।


लोगसत्ता न्यूज
Anilkumar Upadhyay